जागरण संवाददाता, मोगा : आगामी 14 दिसंबर को बाल दिवस के मौके पर एक बार फिर जिले के सभी 357 स्कूलों में तीन साल से लेकर छह साल तक के बच्चों के सरकारी प्री प्राइमरी स्कूलों के लिए दाखिले शुरू हो जाएंगे। दो साल पहले शुरू किए गए इस प्रोजेक्ट की सफलता के बाद सरकार ने इस साल भी प्रोजेक्ट को और बेहतरीन ढंग से आगे हढ़ाने की योजना तैयार की है, गुणवत्ता में सुधार के लिए प्रत्येक स्कूल को सरकार के स्तर पर सात-सात हजार रुपये की राशि जारी कर दी है, जबकि बच्चों के लिए स्टडी मैटीरियल अलग से उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें बच्चों के लिए चित्र कथाओं की पुस्तकें, कहानियों की पुस्तकें आदि शामिल होंगी।

गौरतलब है कि शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार की पहल पर निजी स्कूलों की तर्ज पर तीन से छह साल के बच्चों के लिए प्री प्राइमरी कक्षाएं शुरू की गई थीं। वर्तमान में पूरे प्रदेश में 2.20 लाख बच्चे सरकारी प्री प्राइमरी स्कूलों में पढ़ रहे हैं। मोगा शहर में 357 प्री प्राइमरी स्कूल संचालित किए जा रहे हैं।

प्री प्राइमरी स्कूलों में बच्चों को खेल-खेल में बिना परीक्षा का बोझ डाले पढ़ाया जा रहा है। नए सत्र के लिए 14 नवंबर को बाल मेलों के साथ दाखिला शुरू होगा। बाल मेलों में पहले से पढ़ रहे बच्चों की प्रतिभा का प्रदर्शन किया जाएगा, ताकि समाज में ये संदेश जा सके कि छोटे बच्चों की प्रतिभा सिर्फ निजी स्कूलों में ही नहीं बल्कि सरकारी स्कूलों में भी निखर सकती है। इस बार प्रवेश श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव का समर्पित होगा।

पढ़ो पंजाब, पढ़ाओ पंजाब के तहत चल रहे इस प्रोजेक्ट की जानकारी देते हुए जिला कोआर्डिनेटर मनमीज सिंह राय ने बताया कि इसके लिए अध्यापकों को विशेष प्रकार की ट्रेनिग भी दी गई है कि छोटे बच्चों को कैसे बेहतर ढंग से पढ़ाया जाय। उनकी कक्षाओं को रुचिकर बनाया जाय, ताकि बच्चे इसे बोझ न समझें।

उन्होंने बताया कि प्री-प्राइमरी कक्षाओं को सरकारी स्कूलों में प्रवेश बढ़ाने में अहम भूमिका रही है। नए सत्र के प्रोजेक्ट की लॉचिग के मौके पर सहायक कोआर्डिनेटर बलदेव राम, स्वर्ण सिंह, सतीश कुमार, मनोज कुमार, सुरिद्र सिंह, कुलवंत सिंह तथा हरबंस सिंह बीएमटी हाजिर थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!