संवाद सहयोगी, मोगा : कोरोना काल की तीसरी लहर में लोगों की लापरवाही जारी है, जिसका परिणाम यह है कि दिनों दिन संक्रमण का दायरा बढ़ता जा रहा है। बसों समेत शहर हो या गांव, लोगों के चेहरों पर मास्क नहीं दिखाई दे रहा है ।शुक्रवार को 66 लोगों ने संक्रमण को मात देने के साथ 91 लोगों की संक्रमित रिपोर्ट का आ जाना इसका उदाहरण है। शुक्रवार को संक्रमित पाए गए लोगों में से सरकारी अस्पताल की महिला डाक्टर व एक शिशु रोग माहिर निजी डाक्टर पाजिटिव पाया गया हैं। जबकि बैंक आफ इंडिया प्रताप रोड ब्रांच के तीन कर्मी व डीसी कार्यलय में कार्यरत एक कर्मी ,एक सरकारी महिला कमी पाजिटिव पाए गए है। जिले में एक्टिव केसों की संख्या बढकर 529 पहुंच गई है ।कोरोना काल के तीसरे दौर में अब तक 237 लोगों की मौत हो चुकी है ।

सिविल सर्जन डा. हितेंद्र कौर ने बताया कि शुक्रवार को 91 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आने के साथ 66 की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद अब तक 8815 संक्रमित ठीक हो चुके है ,शुक्रवार को 60 पुरुषों समेत 31 महिलाएं संक्रमित पाए गए ।।स्वास्थ विभाग ने जिले में कुल 297, 512 लोगों के सैंपल लिए थे, जिनमें से 178,381 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव होने के साथ 1999 लोगों की रिपोर्ट लंबित है। स्वास्थ विभाग की ओर से शुक्रवार को अलग अलग स्थानों से 1759 लोगों के सैंपल लिए गए है।

स्वास्थ विभाग के सूत्रों की माने तो शहर हो या कस्बे की बात तो सड़क पर इक्का दुक्का व्यक्ति के चेहरे पर ही मास्क नजर आता है। दुकानों पर दुकानदार कोरोना गाइड लाइन का पालन कर रहे हैं न ग्राहक। कितनी दुकानों पर तो सैनिटाइजर भी नहीं रखा हुआ है।

Edited By: Jagran