संवाद सहयोगी, मोगा : सरकार की ओर से जिले में मिड-डे मील को सफलतापूर्वक चलाने के लिए 1.83 करोड़ रुपए की तिमाही राशि जारी की जा चुकी है।

डिप्टी कमिश्नर मोगा संदीप हंस ने बताया कि जिले में अपर प्राइमरी स्कूलों में पढ़ने वाले छठीं से आठवीं तक के विद्यार्थियों की गिनती 25547 तथा प्राइमरी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की गिनती 38411 है। सभी बच्चों को दोपहर का खाना सरकार द्वारा जारी किए गए मीनू अनुसार बिल्कुल फ्री दिया जाता है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि सरकार द्वारा सारे बच्चों को प्राइमरी शिक्षा देने, बच्चों को पौष्टिक भोजन मुहैया करवाने व सरकारी प्राइमरी स्कूलों में बच्चों की गिनती पर नियमितता हाजिरी बढ़ाने के मकसद से सारे सरकारी प्राइमरी व अपर प्राइमरी स्कूलों, मान्यता प्राप्त स्कूलों में मिड-डे-मील स्कीम लागू की गई है। इस मौके पर जिला शिक्षा अफसर नेक सिंह ने कहा कि खाना बनाने के लिए जिले के सारे स्कूलों के लिए 1456 कुक रखे हुए हैं जिनको प्रति महीना प्रति कुक 170- रुपए मान भत्ता दिया जाता है। उन्होंने बताया कि चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही दौरान प्राइमरी स्कूलों के लिए 99.25 लाख रुपए व अपर प्राइमरी स्कूलों के लिए 83.80 लाख रुपए कुकिग कोस्ट पर खर्च किए गए। इसके अलावा कुकों के मान भत्ते पर 74.26 लाख रुपए खर्च किए गए हैं। नेक सिंह ने बताया कि जिले के सारे सरकारी स्कूलों को गैस कनेक्शन व गैस भट्ठियां दी गई है। इसके अलावा सारे स्कूलों में अग्निशमण यंत्र भी दिए गए है। इसके अलावा बच्चों के खाना खाने के लिए सारे स्कूलों को बच्चों की गिनती अनुसार बर्तन दिए जा चुके है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!