संस, (वि) मोगा :

आइएसएफ कॉलेज ऑफ फार्मेसी एवं द लर्निग फील्ड ए ग्लोबल स्कूल में सोमवार को चेयरमैन प्रवीण गर्ग, इंजीनियर जनेश गर्ग व डॉ. मुस्कान गर्ग की अध्यक्षता में बसंत पंचमी का त्योहार बड़े धूमधाम व हर्षोल्लास से मनाया गया। समागम की शुरुआत पंडित राम चंद्र कौशिक के नेतृत्व में इंजीनियर जनेश गर्ग, डॉ. मुस्कान गर्ग, डायरेक्टर डॉ. जीडी गुप्ता व फेकल्टी स्टाफ तथा विद्यार्थियों ने मां सरस्वती का पूजन पूरे विधि विधान से करके किया। इस अवसर पर इंजी. जनेश गर्ग ने विद्यार्थियों को बसंत पंचमी के महत्व के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हमें हमारी संस्कृति व विरासत को संभाल कर रखना चाहिए। अपने बच्चों को पूर्वजों की ओर से शुरू किए गए त्योहारों के महत्व की जानकारी देनी चाहिए। डायरेक्टर डॉ. जीडी गुप्ता ने कहा कि पतंगबाजी बेशक हमारी संस्कृति का अहम हिस्सा है। क्योंकि पुराने समय में पतंगबाजी लोगों के लिए मनोरंजन का हिस्सा माना जाता था। उन्होंने कहा कि बेशक समय बदलने से हमारे मनोरंजन के तरीके बदल गए हैं, लेकिन फिर भी हमें अपने त्योहारों को परंपरागत तरीके से मनाना चाहिए, ताकि आने वाली पीढि़या अपने विरसे से जुड़ी रह सकें। समागम दौरान विद्यार्थियों के बीच पतंगबाजी के मुकाबले भी करवाए गए, जिनमें अध्यापकों व विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर शिरकत की। इसी तरह द लर्गिग फील्ड ए ग्लोबल स्कूल में भी बसंत पंचमी का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया गया। समागम की शुरूआत पंडित राम चन्द्र शर्मा के नेतृत्व में स्कूल चेयरमैन इंजी. जनेश गर्ग, डा. मुस्कान गर्ग, ¨प्रसिपल स्मृति भल्ला, को-आडीनेटर संजीव धीर व उप प्रिंसिपल भूमिका कंवर ने संयुक्त तौर पर सरस्वती पूजन की रस्म संपन्न की। इस अवसर पर ¨प्रसीपल स्मृति भल्ला व उप ¨प्रसिपल भूमिजा कंवर ने सभी को बसंत पंचमी की बधाई दी और फूलों की तरह खिले रहने का आशीर्वाद दिया। उन्होंने सभी को बसंत पंचमी और सरस्वती पूजन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज के दिन ऋतुराज बसंत का आगमन माना जाता है और बसंत ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा कहा जाता है। इस दिन सभी पीले रंग के वस्त्र धारण करते हैं। आज के दिन मां सरस्वती की विशेष पूजा करनी चाहिए। इससे हमारी बुद्धि निर्मल रहती है और सकारात्मक सोच का विकास होता है। इस समागम में स्कूल का समूह स्टाफ उपस्थित था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!