संवाद सहयोगी, मोगा : आर्य समाज में 114वां वार्षिक उत्सव मनाते हुए यजुर्वेद पारायण महायज्ञ किया जा रहा है। यजुवर्ेंद पारायण महायज्ञ में आहुतियां देते हुए सभी के भले की कामना की। कार्यक्रम में दिवाकर भारती, पंडित अमित शास्त्री, सुनील कुमार धर्माचार्य देवी दास केवल कृष्ण चैरिटेबल ट्रस्ट ने वेद मंत्रों का उच्चारण किया। मुरादाबाद से पहुंचे डॉ. आचार्य महावीर जी ने वेद को जनमानस का संविधान बताया। वेद का मौलिक परिचय कराते हुए वेद को ईश्वर का ज्ञान सिद्ध किया। जालंधर से पधारे आचार्य राजेश अमर प्रेमी ने भजन सुनाकर सभी का मन मोहा। आर्य समाज की अध्यक्ष सुमन मल्होत्रा ने सभी को समागम में भाग लेने की अपील की। कार्यक्रम में डॉ. पीएन महाजन, अमित बेरी, राजन ¨सगला, सत्य प्रकाश उप्पल, नरेंद्र सूद, समीक्षा शर्मा, हेमंत सूद, राजेश सूद, विकास गुप्ता, इंद्रपाल, जोगेंद्र पाल, प्रवीन ¨सगल, परवीन शर्मा, आर्य शिक्षण संस्थाओं के विद्यार्थी तथा अध्यापकजनों ने हिस्सा लिया।

Posted By: Jagran