सरदूलगढ़,बुढलाडा : मानसा के गांव बच्छूआना में आग लगने से तीन किसानों की गेहूं की फसल और नाड़ जल कर राख हो गया। वही सरदूलगढ़ में भी आग की वजह से किसानों की फसल राख हो गई। गांव बच्छूआना में तीन किसानों के खेतों में अज्ञात कारणों से आग लग गई, जिसे बढ़ती हुई आग पर किसानों ने खुद काबू पाया और अधिकारियों ने मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लिया। आग लगने साथ गांव बच्छोआना के किसान बिक्कर ¨सह की तीन एकड़ अंग्रेज ¨सह के ढाई एकड़, जगतार ¨सह की तीन एकड़, अजैब ¨सह की तीन एकड़ और ढाई एकड़ टांगर(नाड़) जल कर राख हो गया है। पीड़ित किसानों ने बताया कि आग लगने के कारणों का पता नहीं लग सका। इस मौके पर थाना बुढलाडा के प्रमुख गुरदीप ¨सह, पटवारी गुरचरन ¨सह, किसान नेता जगसीर ¨सह दोदड़ा, अजैब ¨सह और मेजर ¨सह उपस्थित थे। किसान नेताओं ने सरकार से मुआवजे की माग की है। वहीं, डेरा बाबा प्रेम दास के पास गेहूं को आग लगने से चार एकड़ फसल जल कर राख हो गई। आग से किसान रु¨पदर ¨सह की दो एक्ड,गुर¨वदर ¨सह वासी झूनीर की दो एकड़ गेंहू की फसल को आग ने अपनी चपेट में ले लिया । आग तेजी से फैल गई, लेकिन किसानों की मुस्तैदी से आग पर जल्द काबू पा लिया गया। मौके पर झुनीर पुलिस व मानसा से फायर बिग्रेड की गाडी पहुंची। इस अवसर पर किसान गुरसेवक ¨सह,नरसी ¨सह,साधू ¨सह,नछतर ¨सह,गुरप्रीत ¨सह,सुरजीत ¨सह,पुश¨वदर ¨सह ने प्रशासन से फायर गाड़ी को झुनीर में रखे जाने की मांग की है।

By Jagran