संसू, बरेटा : ब्लाक बुढलाडा के गांव बच्छोआना में स्थित मंडली जीतसर में सरकारी प्राथमिक स्कूल में ईमानदारी की दुकान खोली गई है। इस दुकान पर विद्यार्थियों को एक छोटे मेज वाली दुकान से स्टेशनरी का सामान लेने की इजाजत दी गई है। विद्यार्थी अपना जरूरी सामान लेकर पैसे इसके साथ रखे छोटे बॉक्स में डाल सकते हैं। किसी रिवायती दुकानदार के बिना स्कूल में लगी यह स्टेशनरी की दुकान पिछले एक साल से विद्यार्थियों की मांगों की पूíत के लिए सफलतापूर्वक योगदान डाल रही है।

स्कूल के मुख्य अध्यापक सतपाल सिंह ने बताया कि उनके मन में स्टेशनरी की यह दुकान स्कूल में बनाने का विचार उस समय आया जब उनको विद्याíथयों ने बताया कि गांव की नजदीकी मार्केट 2.5 किलोमीटर की दूरी पर है। इस इमानदारी की दुकान से विद्यार्थी नोटबुक, रंग, पेंसिल, रबड़ आदि खरीद सकते हैं और नजदीक ही लगे बॉक्स में पैसे डाल सकते हैं। विद्यार्थी यह सब अपने स्तर पर करते हैं और आज तक चोरी जैसी कोई भी घटना नहीं हुई। इस स्टेशनरी की दुकान खोलने पर मुख्य अध्यापक को हाल ही में मोहाली में हुए अध्यापक दिवस समारोह में स्टेट अवार्ड के साथ सम्मानित किया गया है।

इमानदारी की यह दुकान बच्चों को इमानदार रहना सिखाने के लिए है। यह स्कूल इस ब्लॉक का पहला अंग्रेजी माध्यम स्कूल भी है। बच्चों के बैठने वाली सीटों को छोटे टेबलों में बदल दिया गया है। मुख्य अध्यापक सतपाल सिंह का कहना है कि गांव जीतसर निवासियों की मदद के बिना कोई भी उपलब्धी नहीं हो सकती। गांव के लोगों ने शिक्षा के काम के लिए निस्वार्थ दान दिया और अलग -अलग प्रोजेक्टों को चलाने में मदद की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!