संसू, बुढलाडा : जमीन बचाओ मोर्चे के तहत शहीद पृथीपाल ¨सह अलीशेर की बरसी की तैयारियों के सबंध में किसानों को जागरूक करने के लिए किसान यूनियन डकौंदा द्वारा ब्लॉक

के गांव में मार्च निकाला गया। जिसमें सैकड़ों किसानों द्वारा 11 अक्टूबर को शहीद हुए पृथीपाल ¨सह के गांव चक अलीशेर में पहुंचने के लिए कहा। इस मार्च की शुरुआत गांव गुरने कलां से बोड़ावाल, बीरोके कलां, बीरोके खुर्द, चक भाईके, अहमदपुर समेत दर्जन के करीब गांवों में किया गया। इस मौके पर रैली को सम्बोधित करते

नेताओं ने कहा के शहीद पृथीपाल ¨सह गांव बीरोके खुर्द के किसान की जमीन की नीलामी बुढलाडा के एक आढ़तिये से करवाए जाने के विरोध में जथेबंदी के सघर्ष में शामिल थे। इस संघर्ष में वह आढ़तिए के गुंडों की गोलियों का सामना करते हुए शहीद हो गए थे। नेताओ ने सरकार की गलत नीतियों का खुलासा करते हुए कहा के प्रदूषण के नाम पर सरकार ने पराली न जलाने का फरमान तो जारी कर दिया है। मगर किसानों की समस्याओं को हल नहीं किया जा रहा है। जिसके उलट किसानो को ही जिम्मेदार

ठहराया जा रहा है। मार्च में सूबा मेंबर कुलवंत ¨सह किशनगढ़, जिला प्रधान म¨हदर ¨सह दयालपुरा, जिला केशियर देवी राम, म¨हदर ¨सह भैणीबाघा, दर्शन ¨सह गुरने कलां, इ़कबाल ¨सह मानसा मौजूद थे।

Edited By: Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!