विनोद जैन, सरदूलगढ़ : हाल ही में सम्पन्न हुए लोकसभा चुनाव में बठिडा लोकसभा हलके से अकाली-भाजपा की सांझी उम्मीदवार हरसिमरत कौर बादल ने बेशक अपने विरोधी कांग्रेसी उम्मीदवार अमरिदर राजा वडि़ग को 21772 वोट से हराकर जीत हासिल की है लेकिन हलका सरदूलगढ़ में शिअद की हरसिमरत को कम ही वोट मिले। इससे हलके के कांग्रेसी नेता अजीतइंदर सिंह मोफर ने चैन की सांस ली है। बता दें कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में हलका सरदूलगढ़ से हरसिमरत ने 21 हजार वोट से लीड हासिल की थी। जबकि उस समय हरसिमरत ने 19 हजार 395 वोट से जीत हासिल की थी एवं इस बार जीत का अंतर 21772 है, लेकिन हलका सरदूलगढ़ के वोटरों ने हरसिमरत बादल पर विश्वास न दिखाते हुए कांग्रेसी उम्मीदवार राजा वडि़ग को 3158 वोटों की लीड दिलाई। जिससे अकाली वर्करों में मायूसी पाई जा रही है। वहीं वोट कम होना हलका सरदूलगढ़ में अकाली दल के लिए आगामी विस चुनावों के लिए खतरे की घंटी है। वहीं हलके से कांग्रेसी नेता अजीतइंदर सिंह मोफर ने चैन की सांस ली है, क्योंकि पिछले बार उनपर बादल परिवार को वोट दिलाने के आरोप लगे थे। सरदूलगढ़ की नगर पंचायत पर अकाली दल काबिज है। शहर के 13 वार्ड में 12 वार्ड में अकाली पार्टी के पार्षद है। लेकिन फिर भी अकाली दल की शहर में वोट कम हो गई। शहर के वार्ड नंबर 1, 2, 4 व 6 में ही अकाली दल अपनी वोट को बढ़ा सका जबकि अन्य वार्ड में उसके वोट कम हुए है। यूथ अकाली दल के शहरी प्रधान व वार्ड नंबर सात से चुनाव लड़ चुके राजू जैन भी अपने वार्ड में पार्टी की वोट नही बढ़ा सके। वहीं अकाली दल के शहरी प्रधान पार्षद अजय कुमार नीटा व नगर पंचायत प्रधान जतिदर जैन के वार्ड में भी अकाली दल के वोट कम हुए। लेकिन नगर पंचायत की वाइस प्रधान शकुतंला देवी अपने वार्ड से वोट बढ़ाने में कामयाब रहीं।

इसके अलावा बलविदर भूंदड़, दिलराज भूंदड़ ने अपने गांव भूंदड व काहनेवाला, अजीतइंदर सिंह मोफर अपने गांव मोफर, जीवन दास बावा अपने गांव भलणवाडा, गुरशरन सिंह माखा गांव फूसमंडी व जगसीर सिंह मीरपूर अपने गांव में अपनी अपनी पार्टी के वोट बढ़ाने में सफल रहे। वहीं कांग्रेसी नेता व जिला परिषद मेंबर जसपिदर कौर मीआं भी अपने गांव से राजा वड़िंग के लिए वोट नही बढ़ा सके।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!