जासं, मानसा : किसानों की समस्याओं व मांगों पर चर्चा के लिए भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धपुर की जिला स्तरीय मासिक बैठक बाल भवन में की गई।

बैठक को संबोधित करते संगठन के महासचिव बोघ सिंह मानसा और जिला प्रधान गुरचरण सिंह भीखी ने बताया कि धान लगाने का अब समय है, नरमे की फसल ज्यादा गर्मी होने के कारण खराब हो रही है। नहरी पानी  की कमी होने के कारण मानसा जिले के गांव रायपुर, माखा, टांडिया,

पेरों आदि गांवों की टेलों तक पानी नहीं पहुंच रहा है। भीखी ब्लाक के गांव हीरों कलां, होडला कलां में नहरी पानी बिलकुल नही मिल रहा। गांव के सहकारी बैकों, सोसायटी के सचिव, बैंक मैनेजरों द्वारा किसानों से धक्केशाही की जा रही है। अधिकतर किसान अभी भी कर्जा माफी के इंतजार में है। जैसे गांव कोटडां, हीरो ढ़ैपई, बुर्ज हरी, माखा गांव में अधिकारियों द्वारा किसानों के साथ नाइंसाफी की गई। डिप्टी नैब तहसीलदार झुनीर और पटवारी हलका झंडुके के दो कर्मचारियों ने रिश्वत लेने वालों से मिलकर किसानों से सरेआम धक्केशाही की जा रही है। रजिस्ट्री करवाते समय हर रजिस्ट्री के साथ एक तथा दो-दो हजार रुपए लिए जा रहे है। उक्त सभी मांगों को लेकर डीसी दफ्तर मानसा के दफ्तर के समक्ष 11 जून को धरना लगाया जाएगा। बैठक मे अन्य प्रस्ताव भी पारित किया कि जिले के किसान धान की फसल लगानी शुरु कर दें, ताकि आगामी समय में कोई मुश्किल न आए। इस समय महासचिव बोघ सिंह मानसा, जिला प्रधान गुरचरण सिंह भीखी, जगजीत सिंह ढैपई, महिदर सिंह, बलवीर सिंह, उगर सिंह, सुखदेव सिंह, बलवीर सिंह, माघ सिंह, गुरदीप सिंह  गुरदीप सिंह, बलवीर सिंह आदि शामिल थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!