नानक सिंह खुरमी, मानसा : सर्वप्रथम किसी भी देश या राज्य की उन्नति का अनुमान उसकी सड़कों से लगाया जाता है, लेकिन इस समय जिला मानसा की अधिकतर सड़कों की हालत बहुत ही खस्ता है। यहां की अधिकतर सड़कें उखड़ चुकी हैं। इसके साथ ही अन्य सड़कें नियमों के पैमाने पर खरा नहीं उतरती हैं।

वर्तमान समय में जिले की कुछ सड़कों की भले ही नगर कौंसिल की ओर से मानसा की ओर से मरम्मत की जा रही है लेकिन शहर में इन टूटी-फूटी सड़कों ने कई लोगों के घर उजाड़ दिए हैं। इन सड़कों पर बने ब्लैक स्पॉट पर प्रशासन की लापरवाही के कारण लोगों को भारी पड़ रहा है। वही इस समय शहर में विभिन्न सड़कें इस समय टूटी फूटी है, जोकि आम लोगों के लिए बेहद खतरनाक व जानलेवा बनी हुई हैं। लगातार हादसे होने के कारण प्रशासन इस ओर गंभीरता से ध्यान नहीं दे रहा है।

कहां-कहां हैं ब्लैक स्पाट जहां रहता है हादसों का भय

उक्त सड़कों में से मानसा के ओवरब्रिज पर लगी लाइटें हीं बंद या खराब हैं। उक्त रेलवे ब्रिज पर करीब 35 लाइटें लगा हुई हैं। इनमें से से मात्र आठ लाइटें ही चल रही हैं। इसी कारण इस ब्रिज पर कई हादसे हो चुके है, जिसमें से इस साल तीन लोगों की जान भी जा चुकी है। इसी रेलवे ब्रिज पर दस लोग हादसे के कारण घायल हो चुके हैं। इसी तरह तिकोनी वाले चौक पर अधिकांश लाइटें बंद रहती हैं। इस तिकौनी चौक पर कई हादसे होते रहते हैं। तिकोनी चौक से लेकर बस स्टेंड तक की सड़क पर बने डिवाइडर पर लगी लाइटें भी बंद पड़ी हैं। घनी धुंध होने के कारण यहां हादसे होने का भय रहता है।

नई अनाज मंडी से मानसा शहर को जाती सड़क पर लाइटें न होने के कारण यहां भी हादसे होने का लगातार भय रहता है, लेकिन इन सड़कों की ओर किसी भी प्रशासनिक अधिकारी ने कोई ध्यान नहीं दिया। जिले में ब्लैक स्पाट में पिछले एक साल में करीब 30 हादसे हुए है। उक्त स्थानों पर हादसे होने के कारण लगभग 35 लोगों गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिनमें 16 लोगों की की मौत हो चुकी है और कई लोग घायल होने के कारण जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं।

ब्लैक स्पॉट को गंभीरता से नहीं ले रहे अधिकारी

एसडीएम मानसा छुट्टी पर होने के कारण उनका चार्ज सहायक कमिश्नर के पास है। जब उनसे इस संबंध में बात की तो उन्होंने कहा कि उन्होंने ने वह हाल में ही मानसा आए है। जल्द ही ऐसे स्थानों की पुष्टि कर वहां पुख्ता प्रबंध किए जाएंगे। वही इस बारे में ट्रैफिक इंचार्ज अवतार सिंह फत्ता ने कहा कि अगले सप्ताह वह इस पर जिले के उच्च अधिकारियों से चर्चा करने उपरांत काम करवाने की मंजूरी हासिल करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!