राजन कैंथ, लुधियाना

सावधान, कार सवार महिलाओं का गैंग शहर में लगातार बुजुर्ग महिलाओं को अपना शिकार बना रहा है। यदि सफेद रंग की स्विफ्ट कार में सवार महिलाएं आपको किसी बहाने बुलाकर लिफ्ट देने की बात करें तो न लें और सतर्क रहें, क्योंकि वे नौसरबाज गैंग की सदस्य हो सकती हैं।

गिरोह के सदस्य ज्यादातर रविवार को ही सक्रिय होते हैं। उनका रूट किसी सत्संग भवन की ओर जाने वाली महिलाओं या फिर धार्मिक स्थल के आसपास ही फोकस होता है। इस गैंग के सदस्य कार में लिफ्ट देने के बहाने वृद्ध महिलाओं को बिठाते हैं और फिर रास्ते में उतार कर फरार हो जाते हैं। पीड़ित महिलाओं को बाद में अपने पहने हुए गहने गायब होने का पता चलता है। अब तक हुई वारदातों में इस गैंग को सफेद रंग की मारुति स्विफ्ट कार में देखा गया है। इनकी कारों पर लगा नंबर फर्जी ही निकला है। वारदातों के बाद पुलिस गिरोह के खिलाफ कई मामले तो दर्ज कर चुकी है, मगर आज तक उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी। इस साल इस गिरोह ने कुल छह वारदातें कीं। यानि कि औसत हर दो महीने बाद इस गिरोह ने वारदात की है। महानगर में इस साल अब तक गिरोह ने की वारदातें

जनवरी : कपड़ा व्यापारी की मां को मॉडल ग्राम एरिया में घर छोड़ने के बहाने नौसरबाज महिलाओं ने कार में बिठाया। फिर उससे सोने के जेवरात लूट लिए। वह भी इसी तरह स्विफ्ट कार में ही सवार होकर आए थे। पुलिस ने मामला भी दर्ज कर लिया था मगर अभी तक आरोपितों को नहीं पकड़ पाई है।

---------

फरवरी : हैबोवाल के गुरु नानक देव नगर स्थित एकता विहार निवासी शशि जैन सहेली ज्योति के साथ सत्संग के लिए हैबोवाल से स्मिटरी रोड स्थित महावीर भवन जा रही थी। उसी दौरान सफेद रंग की एक स्विफ्ट कार में सवार महिलाओं ने उन्हें लिफ्ट देकर बैठा लिया। राजपुरा चौक में महिलाओं ने दोनों को उतार दिया। बाद में महिला ने चेक किया तो उसके हाथ में पहनी सोने की दोनों चूड़ियां गायब थीं।

-

फरवरी : दुगरी फेस-2 में क्रॉकरी व्यापारी की मां मनजीत कौर (75) घर के बाहर कुर्सी पर बैठी थी। कार सवार उसका कड़ा छीनकर फरार हो गए। पूरा घटनाक्रम सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। स्विफट कार नंबर पीबी70बी-1427 को युवक चला रहा था जबकि पीछे की सीट पर दो महिलाएं सवार थीं।

------

जून : ऑटो में सवार नौसरबाजों ने राहों रोड निवासी मनजीत कौर की सोने की बालियां लूट लीं। वह अपने रिश्तेदारों को मिलने उनके घर मेहरबान रोड पर गई थी। पिछली सीट पर दो महिलाओं ने उसे अपने बीच में बिठा लिया। कुछ ही समय बाद वह उसे कक्के गांव के पास नीचे उतारकर चले गए। इस दौरान वह बेसुध सी थी। जब होश आया तो उसके कानों में डाली हुई बालियां नहीं थी।

------

नवंबर : विकास नगर निवासी निर्मल महाजन (73) घर से गांव दाद में राधा स्वामी सत्संग घर जा रही थी। पंजाब माता नगर चौक पर सफेद रंग की कार में सवार दो महिलाओं ने लिफ्ट देकर साथ बैठा लिया। थोड़ा आगे जाने पर ही महिलाओं ने उसे नीचे उतार दिया और फरार हो गई। जब उसने चेक किया तो डेढ़-डेढ़ तोले की सोने की उसकी दोनों चूड़ियां गायब थीं।

--------

दिसंबर : एक दिसंबर की सुबह 10 बजे मॉडल टाउन स्थित गुरुद्वारा शहीद बाबा दीप सिंह में माथा टेकने के बाद घर आ रही वकील की दादी को सफेद रंग की कार सवार नौसरबाज महिलाओं ने शिकार बनाया। वह शास्त्री नगर की रहने वालीं कुलजीत कौर सेठी के हाथ में पहना सोने का कड़ा लूट कर फरार हो गई। थाना मॉडल टाउन पुलिस ने दो अज्ञात महिलाओं व उनके एक साथी पर केस दर्ज किया।

------------ कोट्स

कभी किसी अनजान से लिफ्ट नहीं लेना चाहिए, बल्कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट का ही इस्तेमाल करना चाहिए। वृद्ध महिलाएं शायद इसलिए लिफ्ट ले लेती हैं, क्योंकि कार में बैठी महिलाओं पर भरोसा कर लेती हैं। यह गैंग दो सप्ताह का गैप डालकर शहर में आता है, सॉफ्ट टारगेट मिलते ही वारदात कर फरार हो जाता है। जांच में सामने आया है कि उनकी कार पर लगा नंबर भी फर्जी होता है।

-सिमरतपाल सिंह ढींडसा, डीसीपी (डिटेक्टिव)

------------ कोट्स

इस गैंग के बारे में पूरी स्ट्डी की गई है। उनके काफी क्लू भी पुलिस के हाथ लगे हैं। उस पकड़ने के लिए पुलिस की स्पेशल सेल टीम के साथ सीआइए की दोनों टीमों को लगाया गया है। जल्दी ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

-राकेश अग्रवाल, पुलिस कमिश्नर

------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!