जागरण संवाददाता, अमृतसर : गुरु घर की श्रद्धालु व सेवादार बीबी विपनप्रीत कौर ने श्री गुरु रामदास जी के प्रकाश पर्व पर दरबार साहिब में 60 तोले का सोने का छत्र चढ़ाया। विपिनप्रीत कौर ने श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को यह छत्र सौंपा। ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने विपिनप्रीत को सम्मानित किया। इस अवसर पर श्री हरिमंदिर साहिब के मैनेजर, ज्ञानी मलकीत सिंह, परमजीत कौर पिंकी व बीबी बलबीर कौर भी मौजूद थीं। छत्र की कीमत 29 लाख रुपये के करीब है। बीबी विपनप्रीत कौर लुधियाना से हैं। वह बाबा कुंदन सिंह भलाई ट्रस्ट लुधियाना की संचालक हैं।

यह ट्रस्ट अलग-अलग सामाजिक कार्यों को समर्पित है। इसके साथ 600 से अधिक महिलाएं जुड़ी हुई हैं जो समय-समय पर जन कल्याण के अलग-अलग प्रोजेक्ट पर काम करती हैं। इस संस्था की वर्कर अपने स्तर पर अपनी कमाई का दसवंध निकालकर समाज कल्याण के कार्यों पर खर्च करती हैं। संस्था की मुखी विपनप्रीत ने संगत के सहयोग से ही सोने का छत्र गुरु घर को अर्पित किया है।

बता दें कि श्री हरिमंदिर साहिब में एसजीपीसी की ओर से श्री गुरु रामदास जी का प्रकाश पर्व श्रद्धा के साथ मनाया गया। लाखों श्रद्धालु श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने के लिए पहुंचे। संगत ने हरिमंदिर साहिब के सरोवर में स्नान के बाद इलाही गुरबाणी का कीर्तन श्रवण किया और परिवार की सुख शांति व सरबत के भले के लिए अरदास की। इससे पहले गुरुद्वारा मंजी साहिब दीवान हाल में अखंड पाठ के भोग डाले गए। इसके बाद अलग-अलग रागी व ढाडी जत्थों की ओर से संगत को गुरबाणी और गुरु घर के साथ जोड़ा गया। प्रकाश पर्व को मुख्य रखकर श्री हरिमंदिर साहिब, श्री अकाल तख्त साहिब व श्री अटल राय साहिब गुरुद्वारा में सुंदर जलौ सजाए गए जो संगत के आकर्षण का केंद्र रहे।

यह भी पढ़ें- कैप्‍टन अमरिंदर की पाकिस्तानी मित्र अरूसा पर पंजाब में घमासान, जांच का आदेश देकर घिरे गृहमंत्री रंधावा

Edited By: Vinay Kumar