लुधियाना, जेएनएन। गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब पर उग्र कट्टरपंथी भीड़ द्वारा किए हमले का देश-विदेश में सिखों व अन्य समुदाय की ओर से प्रदर्शन किया जा रहा है। यह इस बात को दर्शाता है कि गुरु साहिबान का अपमान केवल सिखों के लिए ही नहीं बल्कि हर समुदाय के लिए चिंता का विषय है। लेकिन पाकिस्तानी प्रेम में मशगूल पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनका दोस्त इमरान खान इस शर्मनाक हरकत के लिए चुपचाप बैठे हैं। यह बात अॉल इंडिया एंटी टेरेरिस्ट फ्रंट के चेयरमैन मनिंदरजीत सिंह बिट्टा ने लुधियाना के सरकारी कन्या कॉलेज के ग्राउंड में आयोजित शोमैन प्रदर्शनी के दौरान कही।

सिद्धू के मन में किसी धर्म या देश के लिए सम्मान नहीं

उन्होंने कहा कि करतारपुर साहिब कॉरिडोर शुरू होने के वक्त पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के गले मिलने वाले नवजोत सिद्धू ननकाना साहिब में पत्थरबाजी होने के बाद भी चुप क्यों हैं। जबकि वह हर मामले में वे तत्काल अपनी प्रतिक्रिया देते रहते हैं। इसके साथ ही वह इमरान खान को सिखों का मसीहा तक बता चुके हैं। लेकिन अब गुरु साहिबान के अपमान को लेकर न तो उनका दोस्त और न ही वह खुद कोई कार्रवाई कर रहें है। इससे साबित होता है कि सिद्धू दंपती केवल वोटों की राजनीति करते हैं और किसी धर्म या देश के लिए उनके मन में सम्मान नहीं है।

गुरुओं का अपमान बर्दाश्त कर रहे पाकिस्तान में बैठे अलगाववादी

सिद्धू अपने देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ ही पाकिस्तान में जाकर मजाक करते हैं। ऐसे में लोगों को देशद्रोही की श्रेणी में डाल देना चाहिए। वहीं जो अलगाववादी पाकिस्तान की मदद से खालीस्तान का नारा बुलंद कर रहें है और गुरुओं का अपमान बर्दाश्त कर रहे हैं। उनकोे भी सोचना चाहिए कि पंजाब में शांति भंग करने की बजाय गुरुओं के सम्मान का ख्याल रखें।

संयुक्त राष्ट्र संघ में की जाए आवाज बुलंद

सिख समुदाय समेत सभी को संयुक्त राष्ट्र संघ में आवाज बुलंद करनी चाहिए। ताकि आरोपितों को सख्त सजा मिल सके। भारत में सभी समुदाय एक हैैं, इसलिए खालिस्तान के नाम पर हमारे देश के टुकड़े करने वाले सचेत हो जाएं। अगर वे सच में गुरु के सेवादार है, तो इस घटना को अंजाम देने वालों को सजा दें। उन्होंने कहा कि इस मामले में प्रदर्शन कर लोग बस राजनीति चमका रहें है, जबकि कार्रवाई के लिए प्रधानमंत्री को अहम कदम उठाने चाहिए।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!