लुधियाना, [आशा मेहता]। अगस्त में सेहत विभाग अलग-अलग एरिया से पीने के पानी के 65 सैंपल लिए थे। इनमें से 25 सैंपल की रिपोर्ट फेल (नहीं पीने लायक) आई है। रिपोर्ट ने पीने का साफ पानी उपलब्ध करवाने के नगर निगम के दावों की पोल खोल दी है। यह सैंपल बुड्ढा दरिया के आसपास के इलाकों से लिए गए थे। जिन एरिया के सैंपल फेल पाए गए हैं वहां बड़ी आबादी रहती है। पहले भी इन इलाकों के सैंपल फेल हो चुके हैं। इससे पहले जुलाई में भी पानी के 34 सैंपल फेल हुए थे।

सेहत विभाग ने फेल पाए गए सैंपल की रिपोर्ट निगम कमिश्नर, डीसी, वाटर सप्लाई विभाग के एक्सइएन को भी भेजी थी। सेहत विभाग के अनुसार बुड्ढा दरिया के किनारे टिब्बा रोड, मायापुरी से लिए गए पानी के पांच सैंपल फेल हो गए हैं। अगस्त में इस इलाके में हैजा के मरीज सामने आए थे। हैबोवाल चंद्र नगर से लिए गए पानी के पांच सैंपल भी फेल हो गए हैं। यह इलाका पाश एरिया माना जाता है। एक बार फिर से शिवाजी नगर से लिए गए पानी के चार सैंपल फेल हुए हैं। जुलाई में यहां भी हैजा फैला था। तब भी चार सैंपल लिए गए थे। चारों सैंपल फेल आए थे।

वहीं, ओमैक्स रायल व्यू होम फ्लैट के सैंपल फेल पाए गए हैं। इसके अलावा समराला के कंग मोहल्ला, मदलिया बाजण, पडिया बयालीपुर, पंजाब होम गार्ड शहरी कंपनी जगराओं के सैंपल फेल हुए हैं। शहर के जिन इलाकों के सैंपल फेल हुए हैं उनके सैंपल जून व जुलाई में भी फेल थे। नगर निगम साफ पानी की सप्लाई के प्रति गंभीर नहीं है। बार-बार सैंपल फेल होना निगम की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा करता है।

सरकारी स्कूलों में भी पानी के सैंपल फेल 

सरकारी प्राइमरी स्कूल टांडा कुशल ¨सह माछीवाड़ा, मिडिल स्कूल भटिटयां माछीवाड़ा, प्राइमरी स्कूल भटिटयां, पब्लिक स्कूल जगराओं, प्राइमरी स्कूल मकसूदरा, सीनियर सेकेंडरी स्कूल मकसदूरा, सीनियर सेकेंडरी स्कूल बरमालीपुर पायल, न्यू जीएमटी स्कूल सिधवाबेट, सरकारी एलिमेंटरी स्कूल नंबर छह खन्ना, एसडी पब्लिक स्कूल खन्ना, प्राइमरी स्कूल कन्या हुसैनी सरकारी प्राइमरी स्कूल मलतिया बाजड़, सीनियर सेकेंडरी स्कूल मलतिया बाजड़, मिडिल स्कूल कुलार, प्राइमरी स्कूल गांव कुलार, प्राइमरी स्कूल हरनामपुरा, बाबा बधवा गांव विद्या केंद्र नानकसर व मिडल स्कूल अकालगढ़ सुधार से लिए गए पानी के सैंपल फेल हुए हैं।

सितंबर में इन एरिया से लिए सैंपल 

सितंबर में सेहत विभाग ने मुल्लांपुर दाखा की वाल्मीकि कालोनी से चार सैंपल, बुड्ढा नाला के साथ लगते तलवाड़ा गांव से छह सैंपल, जालंधर बाईपास एडिल्को एस्टेट से तीन सैंपल और केंद्रीय जेल से चार सैंपल लिए गए हैं।

  दूषित पानी पीने से होंगे बीमार

 मेडिसन विशेषज्ञ डा. गुरमीत सिंह का कहना है कि दूषित पानी पीने से ऐसा इंफेक्शन हो सकता है जिससे सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। इससे डायरिया, हैजा, टायफाइड, पैरा टाइफाइड, हेपेटाइटिस ए व ई हो सकता है।