जासं, लुधियाना : लक्कड़ पुल फ्लाईओवर के नीचे रेल ट्रैक चेंजिग कांटा खराब होने से वंदे भारत, शताब्दी सहित करीब आधा दर्जन ट्रेनें लेट हो गई। दोपहर 1.45 बजे से कांटे में खराबी आने के बाद से रेल प्रशासन उसे ठीक करवाने में जुटा रहा लेकिन 4.45 बजे तक भी समस्या का हल नहीं हुआ। फिर रेल अधिकारियों के निर्देश पर कांटा लॉक कर सावधानी से ट्रेनों का आवागमन आरंभ किया गया। कई ट्रेनों को आउटर पर रोककर रखा गया। इस वजह से शाम को

कटरा-नई दिल्ली वंदे भारत एक्सप्रेस 35 मिनट, अमृतसर-नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस 47 मिनट, अमृतसर से बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस एक घंटा 33 मिनट, अमृतसर से नई दिल्ली शान-ए-पंजाब एक्सप्रेस एक घंटा 13 मिनट व अन्य ट्रेनें कुछ समय देरी से चली। वहीं इस गड़बड़ी के बारे में जानकारी देने से रेल अधिकारी बचते रहे। ट्रेन लेट होने से परेशान रहे यात्री

वंदे भारत ट्रेन 35 मिनट लेट होने से उसमें सवार यात्री परेशान रहे। ट्रेनों को आउटर पर रोक दिया गया था। फिर जब वंदे भारत एक्सप्रेस एक नंबर प्लेटफार्म पर रुकी तो उसमें से लुधियाना के यात्री नीचे उतरे। यात्री अंकुर पांडे ने कहा कि वह अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ माता वैष्णो देवी गए थे। जाने के समय तो ट्रेन समय पर कटरा पहुंची। हालांकि वापसी में यह ट्रेन लुधियाना के आउटर में रोक दी गई। इससे उनको परेशानी हुई। यात्री हरप्रीत सिंह ने बताया कि वह परिवार के साथ जम्मू से दिल्ली जा रहे हैं। अब हाई स्पीड ट्रेन की हालत ऐसी होगी तो सफर सुहाना कैसे होगा। रेलवे को इसमें सुधार करना चाहिए। रात 8.07 पर कांटे को ठीक कर दिया गया: इंस्पेक्टर

फिरोजपुर रेल मंडल के इंस्पेक्टर आरके शर्मा ने कहा कि कांटे में थोड़ी गड़बड़ी आई थी जिससे परेशानी हुई। रात 8.07 बजे कांटा ठीक हो गया। उससे पहले कांटा लॉक कर ट्रेनों का आवागमन किया गया जबकि रात को समस्या दूर कर दी गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!