जासं, लुधियाना : एटलस साइकिल सोनीपत मैनेजमेंट की ओर से लुधियाना के साइकिल उद्यमियों से मटीरियल लेकर पैसे न देने पर प्रमुख साइकिल संगठन यूनाइटेड साइकिल एंड पा‌र्ट्स मैन्यूफेक्चरर एसोसिएशन ने संघर्ष शुरू कर दिया है। शनिवार को उद्यमयिों ने कंपनी के तीनों डायरेक्टर विक्रम कपूर, अंगद कपूर और राजीव कपूर की फोटो पुतलों पर लगाकार रावण, कुंभकरण और मेघनाद की तरह फूंके।

गिल रोड पर स्थित यूसीपीएमए कार्यालय में साइकिल उद्यमी एकत्रित हुए और एटलस साइकिल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की। उद्यमियों ने फैसला किया कि इस संबंध में एक एफआइआर भी दर्ज करवाई जाएगी। वहीं कुछ ही दिनों में दिल्ली स्थित डायरेक्टरों के घर का घेराव करने के साथ-साथ सोनीपत में यूनिट का घेराव किया जाएगा। इस मामले में देश के बड़े कारपोरेट एवं ऑल इंडिया साइकिल मैन्यूफेक्चरर एसोसिएशन के पदाधिकारियों को भी मामले से अवगत करवाकर एटलस साइकिल कंपनी का बहिष्कार करने का अनुरोध किया जाएगा। इस दौरान यूसीपीएमए प्रधान इंद्रजीत सिंह नवयुग, चरणजीत सिंह विश्वकर्मा, अजीत कुमार, तेजविंदर सिंह बिगबेन, राजीव जैन, अवतार सिंह भोगल, सु¨रदर सिंह मैपको, गुरचरण सिंह जैमको, बेअंत पाल सिंह, त्रिलोक सिंह, यशपाल सिंह सहित भारी संख्या में उद्यमी मौजूद थे। कंपनी के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ेगी टीम

दो साल से मटीरियल लेकर सरकारी साइकिल टेंडर में साइकिल देकर पेमेंट लेने के बावजूद वेंडरों के पैसे न देने पर नामी साइकिल निर्माता कंपनी एटलस साइकिल सोनीपत के खिलाफ लुधियाना साइकिल उद्योग अब सड़कों पर उतरा है। इसके लिए बकायदा एक टीम का गठन कर दिया गया है, जो पैसे न मिलने तक कंपनी के खिलाफ धरने प्रदर्शन से लेकर कानूनी लड़ाई भी लड़ेगी। कंपनी ने लुधियाना के वेंडर्स के देने हैं 50 करोड़

एटलस साइकिल के सोनीपत और मलनपुर यूनिट की ओर से वेंडर्स के पैसे नहीं दिए जा रहे हैं। वे एक वेंडर के पैसे खड़े कर दूसरे से मटीरियल लेना आरंभ कर देते हैं। कई कंपनिया इनके चक्कर में बैंकक्रप्ट हो गई हैं। 50 करोड़ के करीब कंपनी ने लुधियाना के वेंडर्स के देने हैं।

Posted By: Jagran