लुधियाना (वि.): ट्राइडेंट लिमिटेड ने 30 सितंबर, 2021 को समाप्त तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की। इनमें कंपनी ने बिक्री बढ़ने से लेकर कर्ज भी कम होने की घोषणा की है।कंपनी ने वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में अब तक की उच्चतम तिमाही आय 16726.7 मिलियन रुपये अर्जित की। साथ ही इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध ऋण असाधारण रूप से घटकर 10453.9 मिलियन रुपये रहा है और और बीते साल की समान तिमाही के मुकाबले इसमें 15.1 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है।

कंपनी ने वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में अब तक का उच्चतम तिमाही आय 16726.7 मिलियन रुपए अर्जित किया। वहीं दूसरी तिमाही में कंपनी ने 24.7 प्रतिशत के ईबीआईटीडीए मार्जिन के साथ 4129.2 मिलियन रुपये का अब तक का उच्चतम तिमाही ईबीआईटीडीए भी दर्ज किया है। वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में 2288 मिलियन रुपये का कर पश्चात सर्वाधिक त्रैमासिक लाभ दर्ज किया गया। इसके साथ ही 13.7 प्रतिशत के निरंतर बढ़ते पीएटी मार्जिन के साथ बेहतर प्रदर्शन किया है। वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बीते वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले कंपनी की कुल आय में 42.4 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की है। ट्राइडेंट ग्रुप के चेयरमैन राजिदर गुप्ता ने कंपनी के संपूर्ण बेहतर प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हमने पिछली तिमाही से सकारात्मक गति जारी रखी है और दूसरी तिमाही में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया है। कंपनी अपने सभी हितधारकों के लिए समावेशी विकास शुरू करने और भविष्य में उत्कृष्टता जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

शेयरधारकों को 36 प्रतिशत डिविडेंड की भी घोषणा

ट्राइडेंट पिछले पांच वर्षों से अपने शेयरधारकों को एक स्थिर लाभांश भुगतान करके अपने शेयरधारकों को पुरस्कृत करने में सबसे आगे रहा है और पिछले दो लगातार वर्षों से डिविडेंड भुगतान को 50 प्रतिशत से अधिक बनाए रखा है। कंपनी ने इस बार भी अपने शेयरधारकों को 36 प्रतिशत डिविडेंड देने की भी घोषणा की है। शेयरधारकों के लिए 29 अक्टूबर, 2021 की रिकॉर्ड तिथि के रूप में 36 प्रतिशत लाभांश (0.36/-प्रति इक्विटी शेयर प्रति 1/- रुपये) की घोषणा की है।

Edited By: Jagran