संस, समराला : अमृतसर में हुए रेल हादसे के बाद भी रेल विभाग के कर्मी लापरवाही करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। अब ताजा मामला लल्ला रेलवे स्टेशन के नजदीक लल्ला-खैहरे फ ाटक पर हुआ। ट्रेन आने से पहले गेटमैन ने फ ाटक बंद किया और कैबिन को ताला लगाकर कहीं चला गया। ट्रेन गुजर गई लेकिन फ ाटक डेढ़ घंटे तक नहीं खुला। रेल विभाग ने एक्शन लेते हुए उसका तबादला कर दिया है।

दरअसल, यह घटना 3 नवंबर की है। लल्ला-खैहरे फ ाटक पर उस दिन शाम करीब 6.30 बजे ट्रेन आनी थी। जब ट्रेन गुजर गई तो वहां पर खड़े लोग फ ाटक खुलने का इंतजार करते रहे। काफी देर तक फाटक नहीं खुला तो लोगों ने कैबिन के पास जाकर देखा तो गेटमैन वहां ताला लगाकर कहीं चला गया था। वहां पर खड़े लोग गेटमैन के आने का इतजार करने लगे। करीब डेढ़ घंटे तक भी गेटमैन नहीं आया। कई वाहन चालक फ ाटक नहीं खुलने पर रेलवे को कोसते हुए अन्य रास्तों से चले गए। राहगीरों ने तुरत यह मामला लल्ला रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर सालग राम के ध्यान में लाया। उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरत ही गेटमैन को तलब कर उससे पूछताछ की पर वह कोई संतुष्ट जवाब नहीं दे सका। स्टेशन मास्टर ने रेलवे के चंडीगढ़ स्थित ट्रैफि क इस्पेक्टर अनिल अग्रवाल को इस मामले की जानकारी दी। फिर उन्होंने गेटमैन की लापरवाही देखते हुए तुरंत ही लल्ला-खैहरे के गेटमैन अनुज का 5 नवंबर को तबादला खालमपुरा यार्ड में कर दिया। जब इस संबंध में रेलवे स्टेशन लल्ला के स्टेशन मास्टर सालग राम से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि यह मामला उच्चाधिकारियों के ध्यान में लाया गया है। उन्होंने आगे कुछ भी बताने से इकार कर दिया। लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी : ट्रैफिक इंस्पेक्टर

इस संबंध में चंडीगढ़ स्थित रेलवे के ट्रैफिक इस्पेक्टर अनिल अग्रवाल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह मामला उनके नोटिस में आ गया था। गेटमैन का तबादला कर दिया गया है। उन्होनें कहा कि किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!