गगनदीप रत्‍‌न, लुधियाना:ट्रैफिक मुलाजिमों में आपसी तालमेल बनाने और उनके बीच की दूरियों को कम करने के लिए लुधियाना ट्रैफिक पुलिस को अब वॉकी-टॉकी सिस्टम दिए जाएंगे। इससे ट्रैफिक जाम के साथ-साथ क्राइम पर भी कंट्रोल होगा। फिलहाल एडीसीपी ट्रैफिक सुखपाल सिंह बराड़ ने अधिकारियों को इसके लिए सिफारिश कर दी है, जिसके बाद जल्द इस समस्या का हल किया जाएगा। अब मुलाजिमों के हाथों में नए वॉकी-टॉकी सैट होंगे।

पिछले लंबे समय से मुलाजिम बिना वॉकी-टॉकी सिस्टम के काम चला रहे है। ऐसा नहीं कि मुलाजिमों के पास सैट नहीं है लेकिन जितने भी है वो सब खराब हो चुके है या उनकी रेंज की परेशानी आ रही है। हालाकि मुलाजिम खुद अधिकारियों को बार-बार इसके बारे मे बता चुके है। मगर हर बार बात ठंडे बस्ते में चली जाती है लेकिन इस बार इस सुझाव को हरी झडी मिल गई है। जिसमें 40 के करीब वॉकी-टॉकी मंगवाए जा रहे है, जोकि हर चौक मे तैनात एक कास्टेबल को दिया जाएगा।

ये होंगे फायदे

अक्सर शहर में लगे ट्रैफिक जाम के कारण मुलाजिमों का आपसी तालमेल बिगडऩा है। मुलाजिम एक चौक से दूसरे चौक तक मुलाजिम मैसेज नहीं पहुंचा पाते तो जाहिर सी बात है कि ट्रैफिक जाम की परेशानी बनेगी। किस जगह से कब और कैसे डायवर्ट करना है। ये सब वॉकी-टॉकी सिस्टम के जरिए आसानी से हो सकेगा। इसके अलावा अगर कोई शख्स ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन कर भागता है तो उसे भी आसानी से अगले चौक में पकड़ा जा सकता है। आए दिन पुलिस के बाकी सभी विभागों में पुरानी हो चुकी चीजों को बदला जाता है। लेकिन ट्रैफिक पुलिस के पास पिछले कई सालों से पुराना साजो-सामान है। जिसमें एल्कोमीटर जोकि गिनती के है, जैकेट्स, राडार, ट्रैफिक टूल्स व अन्य सामान शामिल है।

Posted By: Jagran