लुधियाना, [लेखराज ठाकुर]। Vegetable Price in Navratri:  टमाटर और शिमला मिर्च के बढ़े दाम से परेशान लोगों को अब प्याज ने भी झटका दे दिया। महाराष्ट्र में आए 'गुलाब तूफान' की वजह से प्याज के दाम एकाएक डेढ़ गुना तक बढ़ गए। अभी दाम में और उछाल आने की संभावना जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि गुलाबी तूफान की वजह से महाराष्ट्र और राजस्थान में प्याज की फसल को काफी नुकसान पहुंचा। इस वजह से मंडियों में एकाएक प्याज की आवक घट गई। दो दिन में ही दाम 30 से 45 रुपये तक पहुंच गए हैं।

प्याज कारोबारियों का कहना है कि अभी नवरात्र की वजह से प्याज की डिमांड में थोड़ी कमी है लेकिन अब शादी का सीजन शुरू होने वाला है। इस वजह से अगले हफ्ते से डिमांड में इजाफा होने के साथ दाम और बढ़ सकते हैं। प्याज़ कारोबारियों ने बताया कि अभी 10 नवंबर से पहले कोई नई फसल मार्केट में नहीं आएगी। इसके बाद राजस्थान के अलवर का प्याज शुरू होगा। दिसंबर में फिर नासिक की फसल शुरू होगी।

तीन दिन की बारिश से नुकसान

सब्ज़ी मंडी में टमाटर और शिमला मिर्च के दाम भी आसमान छू रहे हैं। शिमला मिर्च 100 रुपये और टमाटर 50 रुपये बिक रहे हैं । शिमला मिर्च में पहली बार इतनी तेज़ी देखने को मिल रही है। इसकी वजह बेमौसमी बारिश है। हिमाचल में अब सीजन खत्म होने वाला है लेकिन लोकल सब्जी अभी तैयार नहीं है । इस वजह से बैंगलुरु और गुजरात से जो शिमला मिर्च आ रही है वह बहुत महंगी बिक रही है । टमाटर की आवक घटने के साथ दाम दोगुने हो गए । टमाटर के थोक विक्रेता ललित ने बताया कि 3 दिन की बारिश से टमाटर को बहुत ज़्यादा नुक़सान हुआ। इस वजह से टमाटर महंगे हो गए। लोकल फसल में देरी की वजह से दाम कम होने की उम्मीद कम है ।

लोकल गोभी आनी शुरू, अच्छी क्वालिटी आने में लगेंगे 15 दिन

मंडियों में अब लोकल गोभी की आवक भले ही शुरू हो गई है लेकिन रंग साफ नहीं होने की वजह से लोग अभी हिमाचल वाली गोभी को ही तवज्जो दे रहे हैं । सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि अच्छी क्वालिटी की गोभी आने में अभी 10-15 दिन का समय और लगेगा। लोकल गोभी जहां 35-40 रुपये किलो बिक रही, वहीं हिमाचल की गोभी का दाम 60 रुपये प्रति किलो है।

 

Edited By: Vipin Kumar