जगराओं, (लुधियाना) [बिंदु उप्पल]। Tokyo Olympics: टोक्यो में शुक्रवार को शुरू हुए खेलों के महाकुंभ ओलिंपिक 2020 में गरीब परिवार से उठी मुक्केबाज सिमरनजीत कौर को देख मां राजपाल कौर की आंखें भर आईं। उन्होंने कहा कि जिस मुकाम पर सिमरनजीत पहुंची है वह उनके लिए दुनिया की सबसे बड़ी खुशी है। कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि हम जैसे परिवार की बेटी ओलिंपिक तक पहुंच जाएगी।

उन्होंने कहा ‘मैं और मेरा परिवार बहुत खुश हैं। बेटी की सफलता पर आंसू निकल आए हैं। हर घर में बेटी हो तो सिमरनजीत जैसी।’ सुबह से घर पर रिश्तेदारों और लोगों के बधाई देने के लिए फोन आ रहे हैं। सुबह उनकी सिमरनजीत से बात हुई थी। उसने कहा कि मैंने ओलंपिक में राष्ट्रीय ध्वज हाथ में लेकर चल रहे खिलाड़ियों के साथ देश का प्रतिनिधित्व किया। लोगों ने सिमरनजीत और पंजाब के खिलाड़ियों को दैनिक जागरण के माध्यम से शुभकामना संदेश भेजे हैं।

ओलिंपिक खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है। वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने के बावजूद यदि ओलंपिक नहीं खेला तो कुछ नहीं खेला। सिमरनजीत कौर ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया, यह बड़ी उपलब्धि है। वह पदक जीत लौटे, यह मेरी शुभकामनाएं हैं।- बलदेव सिंह, हाकी कोच

ओलिंपिक्स में भारत का प्रतिनिधित्व करना ही बहुत बड़ी उपलब्धि होती है। सिमरनजीत इसका हिस्सा बनी है, यह सभी के लिए गौरव वाली बात है। मेरी तरफ से सिमरनजीत को बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं।-उमा गुप्ता, मेंबर, लक्ष्मी लेडीज क्लब

लुधियाना से पहले भी ओलिंपियन हुए हैं, लेकिन सिमरनजीत ने जिन परिस्थितियों में टोक्यो का सफर पूरा किया, वह काबिलेतारीफ है। वह पदक जीत लौटे, यह मेरी और बास्केटबाल के तमाम पदाधिकारियों व खिलाड़ियों की शुभकामनाएं हैं।-तेजा सिंह धालीवाल, जनरल सेक्रेटरी, पंजाब बास्केटबाॅल एसोसिएशन

ओलिंपिक में हिस्सा ले रहे सभी भारतीय खिलाड़ियों को हमारी तरफ से शुभकामनाएं। वे वहां अपना शानदार प्रदर्शन करें। यहां हम उनकी सफलता के लिए वाहेगुरु के आगे अरदास कर रहे हैं।-इंद्रपाल सिंह, मोहल्ला बोगोआना, गिल

ग्रामीण इलाके से होने के बावजूद जिस मेहनत की बदौलत सिमरनजीत कौर ने ओलिंपिक में स्थान बनाया, वह बहुत बड़ी उपलब्धि है। दुआ करते हैं कि वह पदक जीत एक नया इतिहास रचे और ओलिंपिक मेडल जीतने वाली पंजाब की पहली महिला मुक्केबाज बने। उन्हें ढेरों शुभकामनाएं।-जगरूप सिंह जरखड़, स्पोट्र्स प्रमोटर

ये पंजाब और पंजाबीयत के लिए बड़े गर्व की बात है कि इतनी अधिक संख्या में पंजाबी देश के लिए ओलिंपिक में हिस्सा ले रहे हैं। मेरी तरफ से सभी खिलाड़ियों को शुभकामनाएं। ये खिलाड़ी देश का नाम जरूर रोशन करेंगे। धन्यवाद।-हरीश चंद्र, किशोर नगर, लुधियाना

सिमरनजीत कौर को मेरी ओर से ढेरों शुभकामनाएं। गांव चकर की बेटी दूसरी लड़कियों के लिए भी प्रेरणा स्नोत बनी है। सिमरनजीत ने साबित किया है कि जो कुछ भी ठान लिया है, वह हासिल किया जा सकता है। हम भी चाहते हैं कि वह पदक जीतकर लौटें।-गुरमंत कौर गिल, प्रिंसिपल, गुरु नानक इंटरनेशनल स्कूल

27 जुलाई: सुबह 7: 30 बजे

सिमरनजीत का मैच

Edited By: Vipin Kumar