जागरण संवाददाता, लुधियाना : चोर को शेखी बघारना महंगा पड़ गया। शेखी में ही उसने चोरी किया हुआ मोबाइल अपने दोस्त को मुफ्त में दे दिया, जिसे पुलिस ने ट्रेस पर लगाया हुआ था। मोबाइल इस्तेमाल कर रहे युवक ने पुलिस को चोरों तक पहुंचा दिया। पुलिस ने दो भाइयों समेत तीन चोरों को काबू किया है। उनके पास से 24 तोले सोना, पौने पांच लाख रुपये, मोबाइल फोन ओर एलसीडी बरामद की है। यह तीनों शहर में होने वाली शादियों में वेटर का काम करते थे और वहीं से टारगेट चुनते थे। डीसीपी अश्वनी कुमार ने बताया कि 28 मई को हैबोवाल में अध्यापक अनिल कुमार के घर पर चोरी हुई थी, जहां से सोना, नकदी और कुछ मोबाइल फोन चोरी हुए थे, जिसकी एफआइआर थाना हैबोवाल में दर्ज की गई थी। जांच जगतपुरी के एएसआइ कपिल कुमार कर रहे थे। चोरी हुए एक मोबाइल को पुलिस ने ट्रेसिंग पर लगाया हुआ था, जिसमें सिम डालते ही पुलिस ने फोन ट्रेस कर लिया और हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी, जिसने पुलिस को बताया कि उसने यह मोबाइल फोन रवि कुमार नामक युवक से लिया था। पुलिस ने रवि को काबू किया तो पूरा मामला सुलझ गया। उसने बताया कि वह अपने भाई सूरजपाल व अन्य युवक दीपक के साथ मोबाइल चुराया था। सूरजपाल ने पहले ही थाना सदर में दर्ज एक मामले में खुद सरेंडर कर दिया था। पुलिस ने उससे भी सोना और नकदी बरामद की है। पुलिस ने तीनों को रिमांड पर लिया है। दोनों भाई वेटर का काम करते हैं और शादियों में लोगों की बातों पर ध्यान रखते थे और यहीं से ही टारगेट चूज करते थे। अगर किसी घर में सोना और नकदी पड़े होने संबंधी पता चलता तो वह वहां रेकी करते और समय पाकर लूट की वारदात को अंजाम देते थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!