लुधियाना, [राधिका कपूर]। PU Senate Poll : पंजाब यूनिवर्सिटी (पीयू) सीनेट के चार साल बाद होने जा रहे सीनेट चुनाव के केवल ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी के ही चुनाव होने बाकी है जोकि 26 सितंबर रविवार को होने जा रहे हैं। प्रिंसिपल, लेक्चरार कांस्टिट्यूएंसी के चुनाव हो चुके हैं। ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी के चुनाव सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक जारी रहेंगे। राज्य भर में इस कांस्टिट्यूएंसी के चुनाव के लिए कुल 272 बूथ बने हैं जबकि 211 बूथ पर चुनाव पहले चरण यानी रविवार को हो रहे हैं और बचे 61 बूथ पर चुनाव सेकेंड फेज में होंगे।

चुनाव सेकेंड फेज में होने का कारण 25 और 26 सितंबर यानी दो दिनों तक पंजाब पुलिस की भर्ती की परीक्षा होना है जिसके चलते सेंटर्स उपलब्ध नहीं हो सके थे। राज्य भर में ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी के कुल पंद्रह उम्मीदवार है जिनमें जिला लुधियाना से तीन उम्मीदवार शामिल हैं। जिला लुधियाना में पांच सेंटर्स एमजीएम स्कूल दुगरी, पीएयू में बनाए गए दो बूथ, साहनेवाल, समराला में चुनाव दूसरे फेज में होंगे जिसकी तिथि अभी घोषित नहीं की गई।

जिला लुधियाना के तीन उम्मीदवार व उनके क्या हैं एजेंडा

एससीडी गवर्नमेंट कालेज के के वाइस प्रिंसिपल रिटायर हुए प्रो. मुकेश अरोड़ा, स्टेट बैंक आफ इंडिया इंप्लाइज यूनियन चंडीगढ़ सर्कल और डिप्टी जनरल सेक्रेटरी पंजाब बैंक इंप्लाइज फेडरेशन के नरेश गौड़, निहाल सिंह वाला कालेज के प्रिंसिपल प्रो. कुलदीप सिंह तीन उम्मीदवार हैं।

 

24 सालों से पीयू सीनेट चुनावों में बन रहे विजेता

प्रो. मुकेश अरोड़ा इस साल सातवीं बार पीयू सीनेट चुनावों में खड़े हैं। इससे पहले पिछले 24 सालों से वह पीयू सीनेट चुनावों के विजेता बन चुके हैं। इससे पहले वह चार बार ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी व दो बार टीचर कांस्टिट्यूएंसी से जीत चुके हैं।

एजेंडा:- क्वालिटी एजुकेशन वाजिव दामों पर उपलब्ध कराना, गेस्ट फैकल्टी और पार्ट टाइम टीचर्स को रेगुलर कराना या बराबर वेतन मुहैया कराना

---------------------

दो बार जीत चुके ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी के चुनाव

स्टेट बैंक आफ इंडिया इंप्लाइज यूनियन चंडीगढ़ सर्कल और डिप्टी जनरल सेक्रेटरी पंजाब बैंक इंप्लाइज फेडरेशन के नरेश गौड़ दो बार ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी से जीत चुके हैं और इस साल वह तीसरी बार चुनाव में खड़े हो रहे हैं।

एजेंडा:- आनलाइन एडमिशन कराएंगे कालेजिज में लागू, भारत से बाहर विद्यार्थियों को जाने पर ट्रांसक्रिप्शन करानी पड़ती है जोकि विदेश जा वहां अनुसार वसूली जाती है। विद्यार्थियों को भारतीय फीस अनुसार ही भिजवाएंगे बाहर, कालेजों में टीचर्स की भर्ती होने पर उनका पीएफ पहले दिन से ही कराएंगे शुरू।

-------------------------

पहली बार ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी से हैं खड़े

निहाल सिंह वाला कालेज के प्रिंसिपल प्रो. कुलदीप सिंह पहली बार ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी से खड़े हैं। इससे पहले वह दो बार टीचर कांस्टिट्यूएंसी से खड़े हो जीत हासिल कर चुके हैं।

एजेंडा:- उच्च शिक्षा को सस्ती कराने पर फोकस, गरीब विद्यार्थियों को हास्टल की सुविधा मुहैया कराना, क्वालिटी एजुकेशन वाजिव दामों पर उपलब्ध कराना

Edited By: Vipin Kumar