लुधियाना, जेएनएन। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमरपाल की अदालत ने 10 लाख की फिरौती के लिए अपहरण करने के मामले में तीन आरोपिताें रछपाल सिंह वासी सीआरपीएफ कॉलोनी दुगरी, जोगिंदर सिंह वासी गांव मानूके, अमरजीत सिंह वासी बेगोवाल लुधियाना को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही 25-25 हजार रुपये जुर्माना भी अदा करने का आदेश दिया है।

थाना जगराओं में मंजीत कौर वासी गांव मानूके की शिकायत पर सात जनवरी 2009 को केस दर्ज किया था। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसकी दूसरी शादी मेजर सिंह से एक वर्ष पहले हुई थी। घटना वाले दिन जब पति के साथ घर में मौजूद थी तो घर में छह सात लोग घुस आए और बंधक बना लिया व गहने और 30 हजार रुपये ले लिए। जाते समय पति का अपहरण कर लिया। इसके बाद आरोपितों ने फोन करके धमकाया और कहा कि अगर वो अपने पति को छुड़ाना चाहती है तो 10 लाख दे।

शिकायतकर्ता के बयानों पर पुलिस ने छह-सात अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की और जांच में उपरोक्त आरोपितों के अलावा हरप्रीत सिंह व मगर सिंह के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!