संसू, लुधियाना : शिव मंदिर गुरु रामदास नगर मक्कड़ कालोनी में चल रही संगीतमय शिव पुराण कथा के अंतिम दिन बुधवार को कथा वाचक स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज ने शिव महापुराण श्रवण करने का महत्व बताते हुए कहा कि शिव पुराण का पाठ करने से मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है। नि:संतान लोगों को संतान की प्राप्ति हो जाती है। वैवाहिक जीवन से संबंधित समस्याएं आ रही हैं तो वह समस्याएं दूर हो जाती है। व्यक्ति के सभी प्रकार के कष्ट व पाप नष्ट हो जाते हैं। जीवन के अंत में उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है।

शिवपुराण कथा में भगवान भोले के विविध रूपों, अवतारों व ज्योतिर्लिंगों का महत्व बताया गया है। शिव को पंचदेवों में प्रधान अनादि सिद्ध परमेश्वर माना गया है। कथा के अंतिम दिन उन्होंने बारह ज्योतिर्लिंगो का महत्व बताते हुए कहा कि भगवान शिवजी जहां-जहां स्वयं प्रगट हुए उन्हीं 12 स्थानों पर स्थित शिवलिगों को पवित्र ज्योतिर्लिंगों के रूप में पूजा जाता है। इन ज्योतिर्लिंगों के न सिर्फ दर्शन करने पर शिव भक्त को विशेष फल की प्राप्ति होती है।कथा के अंतिम दिन धार्मिक भजन गायक मुकेश कुमार के भजनों पर भक्तजन खूब झूमे।

इस मौके पर पूर्व मंत्री हीरा सिंह गाबड़िया, शिव मंदिर कमेटी के चेयरमैन चंद्रभान चौहान, दिनेश मिश्रा ,बनवारी लाल हरजाई, सुखविदर सिंह राणा, सुरेंद्र नागपाल, नवनियुक्त प्रधान चंद्रिका प्रसाद पाल, मनीराम मिश्रा, नंद किशोर तिवारी , अरूण कुमार मिश्रा, अनिल कुमार गोयल, वेद प्रकाश पांडेय, प्रदीप शर्मा , रामा तिवारी , विकास गुप्ता, नंद कुमार सिंह, डा. राम कुमार वर्मा, अशोक कुमार पांडेय, समतोला प्रसाद, उदयराज चौहान, कल्पनाथ चौहान, उमाशंकर गुप्ता गंगाराम चौहान, रामप्रसाद पाल, व समस्त महिला मंडल के लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran