जागरण संवाददाता, लुधियाना : ताजपुर रोड पर बनने वाले कॉमन एफ्यूलेंट ट्रीटमेंट प्लांट (सीईटीपी) के निर्माण को लेकर सब्सिडी न जारी करने और स्कीम बंद होने का हवाला देने पर नेशनल ग्र्रीन ट्रिब्यूनल ने मनिस्ट्री ऑफ इन्वायरमेंट एवं फॉरेस्ट को फटकार लगाई थी। इस पर फैसला देते हुए एनजीटी ने विभाग को आदेश कर एसोसिएशन की सब्सिडी शीघ्र जारी करने की बात कही है। ताजपुर रोड सीईटीपी के निर्माण के लिए केंद्र की योजना के तहत सब्सिडी मिलनी थी।

केंद्र सरकार ने 50, प्रदेश ने 25 और उद्यमियों ने 25 फीसद सब्सिडी दी जानी थी, लेकिन मनिस्ट्री ऑफ इन्वायरमेंट और फॉरेस्ट ने स्कीम बंद होने का हवाला देकर सब्सिडी देने से इन्कार कर दिया। इस पर नेशनल ग्र्रीन ट्रिब्यूनल ने तर्क दिया था कि स्कीम बंद होने से तीन माह पहले इसे अप्लाई किया गया था। पंजाब डायर्स एसोसिएशन के सचिव बॉबी जिंदल ने बताया कि एनजीटी ने विभाग को 11 जनवरी तक का समय देकर पक्ष रखने को कहा है। अब विभाग को इस प्रोजेक्ट को मानकर समय पर सब्सिडी का हिस्सा देने के लिए कहा गया है। बॉबी जिंदल ने बताया कि मकर सक्रांति पर इस प्रोजेक्ट को आरंभ कर दिया जाएगा। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!