खन्ना, जेएनएन। राहत की आस लेकर गुरु अमर दास मार्केट, मंजा मार्केट और जीटीबी मार्केट के रेहड़ी और फड़ी वाले नगर सुधार ट्रस्ट खन्ना के चेयरमैन गुरमिंदर सिंह लाली से मिले, लेकिन उन्हें बैरंग ही लौटना पड़ा। इनमें जीटीबी मार्केट के कुछ दुकानदार भी शामिल थे, जिन्होंने अपनी दुकानों के बाहर अस्थायी अतिक्रमण किया हुआ है। लाली ने फिलहाल उन्हें किसी भी तरह की राहत देने से इंकार कर दिया। सोमवार को सुबह ही लाली के दफ्तर में रेहड़ी, फड़ी और दुकानदार आने लगे।

पहला शिष्टमंडल गुरु अमरदास मार्केट खन्ना के रेहड़ी-फड़ी वालों का पहुंचा। उन्हें लाली ने मार्केट में किसी भी तरह के अतिक्रमण की इजाजत देने से मना कर दिया। लाली ने कहा कि सरकारी हिदायतों के अनुसार नाजायज कब्जे हटाने का काम किया जा रहा। इसी तरह जीटी रोड पर हादसों का कारण बनी मंजा मार्केट वाले भी पहुंचे। उन्हें भी राहत से लाली ने इंकार कर दिया। इसके बाद जीटीबी मार्केट के दुकानदार व रेहड़ी-फड़ी वाले पहुंचे। उन्होंने लाली से कहा कि वे सिर्फ शाम पांच बजे के बाद स्ट्रीट फूड बेचते हैं। इससे लोगों को कोई परेशानी नहीं आती।

लाली ने कहा कि इस मार्केट वालों की इस बात की जांच की जाएगी, पर वे दुकानों के अंदर अपना काम करें। बरामदों और बाहर वाली जगह का प्रयोग न करें। आज होगी जीटीबी मार्केट में कार्रवाई नगर सुधार ट्रस्ट खन्ना की तरफ से मंगलवार को जीटीबी मार्केट के नाजायज कब्जों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नाजायज हटाने के लिए कई दिनों से मुनादी करवाई जा रही है। चेयरमैन लाली ने नाजायज कब्जों से नियमों का उल्लंघन करने वालों से अपील की कि इस मामले में किसी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!