जेएनएन, लुधियाना। पुलिस की एसटीएफ ने दो नशा तस्करों को गिरफ्तार किया है। वे उत्तर प्रदेश से गांजा मंगवा कर शहर में सप्लाई करते थे। उनके खिलाफ थाना मोती नगर में केस दर्ज कर सोमवार को अदालत में पेश किया गया। वहां से रिमांड हासिल कर आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। सब इंस्पेक्टर गुरचरण सिंह ने बताया कि आरोपितो की पहचान मॉडल टाउन के डॉ. अंबेडकर नगर निवासी अमित कुमार तथा रमेश कुमार के रूप में हुई। रविवार शाम को गुप्त सूचना के आधार पर शेरपुर स्थित मोहनदेई कैंसर अस्पताल के बाहर की नाकाबंदी के दौरान दोनों को उस समय काबू किया गया, जब वे एक्टिवा पर आ रहे थे। तलाशी के दौरान स्कूटर पर रखे बोरे में से 21 किलो गांजा बरामद किया गया। पूछताछ में आरोपित अमित ने बताया कि वह बूट पालिश और रमेश वेटर का काम करता था। बाद में दोनो ने नशे की तस्करी करनी शुरू कर दी। उत्तर प्रदेश से एक आदमी उन्हें थोक रेट पर गांजा लाकर देता था। इसे वो यहां अधिक दाम पर परचून में बेचने का काम करते थे। उनसे की जा रही पूछताछ में कई अहम खुलासे होने की संभावना है।

शराब तस्करों ने कार ठोक तोड़ी ग्रिल, पुलिस ने पकड़े

थाना जीआरपी पुलिस ने नशा तस्करों को बड़ी मात्रा में शराब के साथ काबू किया है। दरअसल तस्करों की हांडा सिटी कार सुबह दुगरी पुल के नीचे से गुजरने वाली रेलवे लाइन की ग्रिल में जा लगी। सुबह तीन बजे हुए हादसे के बाद कुछ लोगों ने शराब निकालते भी देखा है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने कार में से दो लोगों को काबू किया है। मगर इसका खुलासा नहीं कर रही है। पुलिस इस पूरे मामले संबंधी मंगलवार को पत्रकारवार्ता कर जानकारी देना चाहती है। जीआरपी थाने के प्रभारी सब इंस्पेक्टर बलवीर सिंह ने बताया कि अभी तस्करों को काबू नहीं किया है। हमने कार चालक और सवार अन्य लोगों की पहचान कर ली है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!