श्री माछीवाड़ा साहिब, जेएनएन। कांग्रेस पार्टी की स्थानीय राजनीति में बुधवार को उस समय भूचाल आ गया जब माछीवाड़ा ब्लॉक के चुने हुए ब्लॉक समिति के सात सदस्यों इस्तीफे देने की चेतावनी दे दी। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ब्लॉक समिति के उप चेयरमैन सुखप्रीत सिंह झड़ौदी, अमनदीप सिंह राणवां, सिमरनदीप कौर के पति सुखजिंदर सिंह पवात, कुलवंत कौर के पति जगजीत सिंह, दलजीत कौर के पति सुखदीप कौर, कुलदीप कौर के पति हरभजन सिंह और ज्ञान कौर के पति जगजीत सिंह ने बताया कि क्षेत्र के लोगों ने उन्हें सदस्य चुन कर विकास के लिए सेवा दी। लेकिन, पिछले दिनों जो चेयरमैन के चुनाव में टकसाली कांग्रेसी को नजर अंदाज कर दिया गया।

चेयरमैन का चुनाव दोबारा करवाने की मांग

उन्होंने आरोप लगाया कि जब जब पद देने की बारी आई तो दो-दो बार चुनाव लड़ने वाले टकसाली कांग्रेसियों को पीछे कर जूनियर कांग्रेसी को यह पद दे दिया गया। वह हलका विधायक अमरीक सिंह ढिल्लों और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से अपील करते हैं कि चेयरमैन का चुनाव दोबारा करवाया जाए। और वरिष्ठ कांग्रेसी का चेयरमैन का पद दिया जाए। ब्लॉक समिति के सदस्यों ने अफसरशाही के खिलाफ भी भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि दफ्तर में तैनात बीडीपीओ चुने गए ब्लॉक समिति सदस्यों को बेइज्जत करती है। प्रेस कांफ्रेस दौरान इन सभी ब्लॉक समिति सदस्यों ने आरोप लगाते कहा कि बीडीपीओ का रवैया ठीक नहीं है।

बीडीपीओ का तबादला न हुआ तो देंगे इस्तीफा

ब्लॉक समिति सदस्यों ने कहा कि यदि कांग्रेस हाईकमान ने चेयरमैन का चुनाव दोबारा न करवाया और बीडीपीओ का तबादला न हुआ तो सभी सदस्य इस्तीफा के देंगे। ब्लॉक समिति सदस्य ज्ञान कौर ने कहा कि चेयरमैन और उप चेयरमैन के चुनाव में अनुसूचित जाति की अनदेखी की गई है। उन्होंने कहा कि माछीवाड़ा ब्लॉक समिति के चेयरमैन और उप चेयरमैन के चुनाव को फिर से करवाया जाए और अनुसूचित जाति से संबंधित वरिष्ठ नेताओं को ये पद दिए जाएं।

सरकारी ग्राटों का दुरुपयोग करने वालों पर हो कार्रवाई

माछीवाड़ा ब्लाक समिति के उप चेयरमैन सुखप्रीत सिंह झड़ौदी और अमनदीप सिंह राणवां ने कहा कि पिछली अकाली सरकार समय गांव माणेवाल, गुरूगढ़, लक्खोवाल और अन्य कई गाव में लाखों रुपए के घपले हुए हैं जिन की जांच होनी चाहिए परंतु जब वह यह मुद्दा उठाते हैं तो उसे दफ्तर बैठी अफसरशाही दबाने लग जाती है। उन्होंने कहा कि जिन्होंने सरकारी ग्राटों का दुरुपयोग की है उन खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये। विधायक अमरीक सिंह ढिल्लों ने कहा कि पार्टी के प्रत्येक नेता और वर्करों का सम्मान रखना उनकी प्राथमिकता है। किसी भी सरकारी अधिकारी की ऐसी कोताही बर्दाश्त नहीं होगी। आरोप बे बुनियाद दूसरी ओर बीडीपीओ राजविंदर कौर ने अपने पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि ब्लॉक समिति सदस्य के सम्मान को ठेस नहीं पहुंचाई। जो भी जायज काम हैं पहल के आधार पर किये जाते हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!