संवाद सहयोगी, जगराओं: सीआइए स्टाफ की पुलिस ने अवैध पिस्तौल (देसी कट्टा) और कारतूस के साथ पकड़े गए दो आरोपितों से की पूछताछ में अहम खुलासे किए। पूछताछ के दौरान गैंग के सात अन्य सदस्यों का पता चला, जिनमें से पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें तीन रायकोट स्थित फाइनांस कंपनी के कर्मचारी भी शामिल हैं।

डीएसपी डी अनिल कुमार भनोट और सीआइए स्टाफ के प्रभारी इंस्पेक्टर दलबीर सिंह ने बताया कि एसआइ गुरसेवक सिंह की अगुआई में पुलिस पार्टी ने गश्त के दौरान मिली सूचना पर लवप्रीत सिंह उर्फ लवी निवासी कल्याण थाना संदौड जिला मलेरकोटला और हरदीप सिंह उर्फ निक्का निवासी पिक कालोनी नजदीक बरनाला चौक रायकोट को बस स्टैंड बिजल से गिरफ्तार किया है। उसके पास से एक 315 बोर का पिस्तौल (देसी कट्टा) और तीन जिदा कारतूस बरामद किए गए हैं। उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

आरोपितों से पूछताछ में उन्होने अपने गैंग के अन्य साथी गगनदीप सिंह निवासी हरचंदपुरा धूरी, नीरज कुमार निवासी अपोलो बस्ती धूरी, दसविदर सिंह निवासी कल्याण थाना संदौड, जसविदर सिंह निवासी गांव कोटमान थाना सिधवांबेट, हरप्रीत सिंह निवासी गांव हसनपुर थाना सदर धूरी , सुखविदर सिंह निवासी गांव बड़ी थाना शेरपुर, संगरूर और सूर्या प्रकाश निवासी मोहनपुर थाना साही जिला बरेली उतर प्रदेश के नाम का खुलासा किया है। इनमें से जसविदर सिंह उर्फ निक्डी और जसविदर सिंह उर्फ जस्सा फरार हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हरदीप सिंह उर्फ निक्का, गगनदीप सिंह उर्फ गगन अपने साथी नीरज कुमार उर्फ सैंडी के साथ मुजफ्फरनगर (यूपी) से अपने दोस्त की गाड़ी लेकर दो देसी पिस्तौल 315 बोर और 6 कारतूस 18000 रुपये में खरीद कर लाए थे। इसके बाद 8 अप्रैल 2022 को लवप्रीत, हरदीप निवासी मंदिर कलां, थाना धर्मकोट, जिला मोगा, किदी निवासी कल्याण और बिल्ला गांव आलमगीर गुरुद्वारा साहिब के मुख्यद्वार ने लुधियाना-मालेरकोटला रोड से एक कार पिस्तौल की नोक पर छीनी थी। जिसे आरोपितों ने बेच दिया।

रायकोट में जहां लवप्रीत हेयर कटिग की दुकान करता है। वहीं हरप्रीत, सतविदर, और सूर्य प्रकाश यह तीनों फाइनेंस कंपनी साटिन क्रेडिट केयर नेटवर्क लिमिटेड, तलवंडी रोड, रायकोट में कैश कलैक्शन का काम करते हैं। इन तीनों को उन्होने कंपनी में अधिक कैश जमा होने पर सूचना देने के लिए कहा। उन तीनों ने 15 अप्रैल 2022 को बैंक की छुट्टियों के चलते बैंक में कैश जमा न होने और कैश कंपनी के कार्यालय में ही होने संबंधी बताया। उसके बाद 16 अप्रैल को लवप्रीत सिंह, हरदीप सिंह, गगनदीप सिंह एपल बस्ती धुरी से नीरज कुमार उर्फ सैंडी, कल्याण से जसविदर सिंह उर्फ निकडी और कोटमान से जसविदर सिंह उर्फ जस्सा की कार महिद्रा लोगन पर सवार होकर तलवंडी रोड रायकोट पर स्थित फाइनेंस कंपनी साटिन क्रेडिट केयर नेटवर्क लिमिटेड जिसका ब्रांच मैनेजर रणधीर सिंह हैं, में कैश की लूट करने के लिए देसी पिस्तौल 315 बोर और कारतूस लेकर गए। लेकिन वहां पर कंपनी के कार्यालय के साथ रिहायशी कमरे होने में कंपनी के कई कर्मचारियों ने शोर सुना और वह कमरे से बाहर निकल आए। हरदीप सिंह उर्फ निक्का ने पिस्तौल से फायर कर दिया और लवप्रीत सिंह ने ब्रांच मैनेजर रनधीर सिंह के सिर पर लोहे की राड से वार कर दिया।

अधिकारियों ने बताया कि इस गैंग के पकड़े जाने पर कई अहम वारदातों को ट्रेस कर लिया गया है। पूछताछ के लिए इनका तीन दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। इनसे और अहम खुलासे होने की संभावना है।

Edited By: Jagran