मिसाल

बघौर के युवाओं ने सेल्फ ग्रुप बनाकर बदली गांव की नुहार

श्मशानघाट की ग्राउंड के साथ -साथ गांव के रास्तों को बनाया साफ सुथरा संवाद सहयोगी, समराला : बघौर के युवाओं ने गांव की सफाई की जिम्मेदारी उठाकर एक मिसाल कायम की है। इन युवाओं ने गांव में जगह-जगह फैली गंदगी से दुखी होकर एक सेल्फ ग्रुप बनाया और अनाउंसमेंट करवाकर गांव में इकट्ठे हुए। इस युवा पीढ़ी ने गांव के बुजुर्गो से विचार विमर्श करने के बाद यहां सफाई मुहिम चलाई और गांव की नुहार बदल दी।

अलग-अलग कक्षाओं में पढ़ने वाले और नौकरीपेशा नौजवानों का यह ग्रुप सफ ाई मुहिम की योजना बनाकर हर शनिवार और रविवार इस काम को अंजाम देता है। शेष दिनों में काम का चयन करके मोबाइल ग्रुप में संदेश डाल दिया जाता है, जिसे पढ़कर नौजवान खुद अपने सफ ाई के साधन लेकर निश्चित स्थान पर पहुंच जाते हैं और सारा दिन सफ ाई करके अगले काम की रूपरेखा तैयार करते हैं।

नौजवानों द्वारा किए कार्यो को देखते हुए गांव के बुजुर्गो ने इनकी सहायता के लिए पैसे और अन्य सामग्री देनी शुरू कर दी है। युवाओं के इस ग्रुप ने अब तक दोनों श्मशानघाट की ग्राउंड के साथ -साथ गांव में से गुजर रहे रास्तों को साफ सुथरा बना दिया है। एक नौजवान ने बताया कि यह सफ ाई मुहिम इसी तरह चलती रहेगी। इसके साथ ही गांव के विकास कार्य भी जारी रहेंगे। नौजवानों ने अब गांव के आस पास लाइटें लगाने के लिए रुपये इकट्ठे करने शुरू कर दिए। तय धनराशि का प्रबंध होने के बाद गांव के आस पास रोशनी हो जाएगी।

नौजवानों का कहना है कि गांव में कई दहाकों से बनता विकास नहीं हो पाया था और यहां चारों ओर गंदगी फैली हुई थी। जिसके चलते लोगों को यहां से गुजरने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता था। लोगों की इस परेशानी को दूर करने के लिए कुछ नौजवानों ने सफाई का जिम्मा उठाया जिससे गांव में चार चांद लगने शुरू हो गए हैं।

बाक्स

पंचायत अधिकारी नौजवानों को करेंगे सम्मानित

गांव बघौर के नौजवानों द्वारा सेल्फ ग्रुप बनाकर सफ ाई करने की बात बीडीपीओ दफतर में पहुंचने के बाद पंचायत अफ सर परमवीर कौर बराड़ ने नौजवानों की प्रशसा की और कहा कि नौजवानों का हौसला बढ़ाने के लिए उन्हें सम्मानित किया जाएगा।

Posted By: Jagran