जागरण संवाददाता, लुधियाना : शिरोमणि अकाली दल संयुक्त ने लुधियाना जिले के हलका साहनेवाल से एडवोकेट हरप्रीत सिंह गरचा को उम्मीदवार घोषित किया है। उनका मुकाबला शिअद के उम्मीदवार शरणजीत सिंह ढिल्लों, आम आदमी पार्टी के हरदीप सिंह मुंडिया से होगा। अभी कांग्रेस ने इस सीट पर अपने उम्मीदवार का एलान नहीं किया है।

इन चुनाव में संयुक्त अकाली दल, पंजाब लोक कांग्रेस एवं भाजपा मिल कर चुनाव लड़ रहे हैं। साहनेवाल सीट संयुक्त अकाली दल के खाते में गई है। हरप्रीत सिंह गरचा ने लखनऊ से कानून की शिक्षा हासिल की। वे वर्ष 2004 से शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्य हैं। इसके अलावा वे वर्ष 2007 से 2017 तक पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट की बार काउंसिल के सदस्य रहे, जबकि तीन बार वे काउंसिल के सचिव पद की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। वे साल 2009 से 2012 तक जिला योजना बोर्ड के सदस्य भी रहे। वे चीफ खालसा दीवान के भी सदस्य हैं। साल 2013 से 2017 तक पंजाब के डिप्टी एडवोकेट जनरल रहे। इसके अलावा उन्होंने शिअद के यूथ विग में वरिष्ठ उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली। अब वे संयुक्त अकाली दल में महासचिव हैं।

ताया जगदीश सिंह शिअद सरकार में रहे थे मंत्री

हरप्रीत सिंह गरचा कोआपरेटिव बैंक के एमडी रह चुके मान सिंह गरचा के बेटे हैं। गरचा परिवार दशकों से राजनीति से जुड़ा है। उनके ताया जगदीश सिंह गरचा शिअद सरकार में मंत्री भी रहे हैं और वे दो बार किला रायपुर से शिअद की टिकट पर जीत कर विधायक रहे। जब पूर्व मंत्री सुखदेव सिंह ढींढसा ने शिअद से अलग होकर संयुक्त अकाली दल का गठन किया तो गरचा परिवार संयुक्त अकाली दल में चला गया।

Edited By: Jagran