संगरूर, जेएनएन। सीआइए स्टाफ संगरूर ने अपराध की दुनिया में उतरे दस सदस्यीय गिरोह के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। चौंकाने वाली बात यह है कि ये सभी खूंखार अपराधी 19 से 25 साले के हैं। ये कितने खतरनाक हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पैसे के लिए इन्होंने बुजुर्गों की जान लेने तक से गुरेज नहीं की। पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने जिले में दो अंधे कत्ल, बैंक व एटीएम लूटने की कोशिश, लूटपाट, छीना-झपटी, सहित कुल 40 वारदातें करने का खुलासा किया है। गिरोह के दो अन्य सदस्य जिला जेल में बंद हैं। मैट्रिक तक की पढ़ाई करके  यह युवा अधेड़ व बुजुर्गों को अपना शिकार बनाकर लूटपाट और झपटमारी करते थे। पुलिस ने इनके पास से शेरपुर के एसबीआइ के सुरक्षा कर्मी की चोरी की 12 बोर की बंदूक, दो कारतूस, चाकू, दो किरच, लोहे के राड व लाठी बरामद की है।

सीआइए बहादुर सिंह वाला पुलिस ने बुधवार रात बेनड़ा-मानावाला रोड पर नाकाबंदी कर मोटरसाइकिलों पर सवार सुखप्रीत सिंह उर्फ सुक्खी, बलजिंदर सिंह उर्फ काला निवासी चांगली (सगे भाई), मनिंदर सिंह उर्फ वट्टा, जसप्रीत सिंह उर्फ जस्सी, प्रभजोत सिंह निवासी चांगली, सुखचैन सिंह उर्फ चन्नी, गुरप्रीत सिंह उर्फ काली निवासी तोलावाल थाना अमरगढ़, हरविंदरपाल उर्फ निक्का निवासी कुलार खुर्द थाना सदर (संगरूर) को काबू किया। उनके पास से बंदूक, तेजधार हथियार, राड बरामद की और यह सभी किसी वारदात को अंजाम देने के लिए जा रहे थे। पुलिस ने अदालत में पेश करके दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया।

गला दबाकर बुजुर्ग महिला की ली जान, लूटी नकदी

पुलिस पूछताछ में गिरोह के सदस्यों ने कबूल किया कि उन्होंने ही धूरी के नजदीकी चांगली में एक बुजुर्ग महिला व मालेरकोटला में दुकान पर रात को एक बुजुर्ग दुकानदार की हत्या की थी। गांव चांगली की परमजीत कौर पत्नी स्व. नछत्तर सिंह की कोई औलाद नहीं थी। इस कारण वह अपने घर पर अकेली ही रहती थी। गिरोह के सदस्य रेकी करने के बाद 18 दिसंबर की रात घर में दाखिल हुए। आरोपितों ने परमजीत कौर की चुनरी से गला घोंट हत्या कर दी। इसके बाद घर में संदूक से 45 हजार रुपये की नकदी, परमजीत के कानों से सोने की बालियां, चांदी का कंगन उतार ले गए।

मलेरकोटला में दुकान में सो रहे बुजुर्ग को उतारा मौत के घाट

गिरोह के सदस्यों ने मालेरकोटला के गोबिंद नगर में किराये पर करियाना दुकान चलाने वाले मोहम्मद बशीर  उर्फ सूफी की भी जान ली थी। वे लूट की नीयत से दुकान में दाखिल हुए थे। तभी मोहम्मद बशीर नींद से जाग गए तो उन्होंने उनके हाथ-पैर चारपाई से बांध दिए व फिर सिर पर लोहे की राड मारकर उनकी हत्या कर दी। लुटेरे दुकान से 15 हजार रुपये की नकदी, मोबाइल फोन लूट ले गए थे। सुबह जब पास रहने वाली महिला दुकान पर सामान लेने के लिए पहुंची तो देखा कि मोहम्मद बशीर की लाश चारपाई पर पड़ी थी। पुलिस ने आरोपितों के पास से हत्या में प्रयुक्त रॉड बरामद कर ली है।

बैंक लूटने की कोशिश की, बंदूक लेकर फरार

गिरोह के सदस्यों ने 25 दिसंबर की रात को गांव घनौली कलां के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए सेंधमारी की। बैंक के मेन गेट पर बैंक मैनेजर के कार्यालय में लगा एसी उखाड़कर विंडो के जरिए अंदर दाखिल हुए। कैश अलमारी के आसपास बनी दीवार को भी तोड़ लिया, लेकिन कैश अलमारी से नकदी नहीं निकाल पाए। असफल होने पर वे सभी सुरक्षा कर्मी रणजीत सिंह की 12 बोर बंदूक व दो कारतूस लेकर फरार हो गए। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने पर लुटेरों की पहचान हुई।

मेगा मार्ट से पांच लाख चुराए, पीएनबी का एटीएम तोड़ा

संगरूर के श्मशानघाट रोड पर मौजूद जिंदल मेगा मार्ट पर 26 दिसंबर की रात को उक्त गिरोह ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया। लुटेरे कीमती सामान और पांच लाख रुपये चोरी करके फरार हो गए। थाना सदर सिटी-1 में दर्ज मामले दर्ज किया था। इसी गिरोह ने 30 दिसंबर की रात शेरपुर में पीएनबी बैंक के एटीएम का ताला तोड़कर लूट की कोशिश की। लूटेरों ने मशीन की तोडफ़ोड़ की, लेकिन कैश बॉक्स तक नहीं पहुंच पाए।

 

धूरी, मालेरकोटला, अमरगढ़ सहित संगरूर में की 38 वारदातें

गिरोह के आठ सदस्यों में से पांच पहले भी लूटपाट, चोरी के मामलों में जेल जा चुके हैं। ये जमानत पर बाहर आने के बाद फिर अपराध करने लगे।  दिल्ली में एक लूटपाट की वारदात समेत जिला संगरूर के शहर संगरूर, धूरी, मालेरकोटला, अमरगढ़ व थाना शेरपुर में 38 वारदातों को अंजाम दे चुके हैं।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!