लुधियाना, जेएनएन। हलवारा में बनने वाले इंटरनेशनल एयरपोर्ट टर्मिनल के लिए जमीन अधिग्रहण का मामला लगातार फंसता नजर आ रहा है। ग्रेटर लुधियाना एरिया डवलपमेंट अथॉरिटी (ग्लाडा) ने पुनर्वास भत्ते के लिए जो सूची जारी की, उसमें 28 ऐसे लोगों के नाम शामिल थे जिनकी मृत्यु हो चुकी है। ग्रामीण ग्लाडा व प्रशासनिक अफसरों से लगातार रेवेन्यू रिकॉर्ड में सुधार के लिए गुहार लगाते रहे, लेकिन अफसरों ने ग्रामीणों की डिमांड को अनदेखा कर दिया। ग्लाडा ने अब जब जमीन के रेट फाइनल किए और किसानों के नाम चेक बनाने की बारी आई तो अफसरों को रेवेन्यू रिकॉर्ड में तब्दीली करने की याद आई। रेवेन्यू विभाग के अफसर सोमवार 17 फरवरी से गांव में जाएंगे और रेवेन्यू रिकॉर्ड में सुधार की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

रिकॉर्ड में दुरुस्ती के लिए एसडीएम से भी मिले थे ग्रामीण

जमीन के रेट घोषित होने के बाद पंचायत के सदस्य भी एसडीएम रायकोट के पास गए थे। एसडीएम ने ग्रामीणों से कहा है कि जिनका रेवेन्यू रिकॉर्ड ठीक करने वाला है, वह अपने दस्तावेज तैयार रखें। एतियाणा गांव के सरपंच लखबीर सिंह का कहना है कि एसडीएम ने कहा है कि जिनका रिकॉर्ड ठीक करवाने वाला है वह अपने आधार कार्ड, गैस की कॉपी, बिजली बिल, राशन कार्ड है तो वो, जमीन संबंधी दस्तावेज, पैन कार्ड व कुछ अन्य दस्तावेज तैयार रखें ताकि रिकॉर्ड में मृतकों की जगह उनके वारिसों के नाम लिखे जा सकें। उन्होंने बताया कि रेवेन्यू अधिकारी एक सप्ताह के भीतर रेवेन्यू रिकॉर्ड ठीक करेंगे।

ग्लाडा को 22 फरवरी तक देने हैं चेक

आवास एवं शहरी विकास विभाग की तरफ से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक ग्लाडा को 22 फरवरी तक किसानों के दस्तावेज चेक करके उन्हें चेक देने हैं और उनकी जमीन का अधिग्रहण करना है, लेकिन रेवेन्यू रिकॉर्ड में कमियां होने के कारण अब यह प्रक्रिया कुछ समय के लिए लटक सकती है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!