लुधियाना, जेएनएन। रेलवे की ओर से ट्रेनों का परिचालन कैंसिल किए जाने से लोग टिकट रिफंड करवाने में जुटे है। रोजाना लाखों रुपये का टिकट रिफंड हो रहा है। वहीं यात्रियों का आरोप है कि टिकट रिफंड करने पर प्रति यात्री पैसे काटे जा रहे है जो सरासर धक्केशाही है। यात्री राकेश कुमार, संजीव कुमार, दिनेश साह आदि ने बताया कि उनका टिकट निजी टिकट एजेंसी से बना हुआ है।

निजी एजेंसी के पास टिकट वापस करने गए तो उन्होंने प्रति यात्री 30 रुपये के हिसाब से काट कर बाकी रकम वापस लौटाई। विरोध जताने पर उन्होंने कहा कि पहले ही बताया था कि प्रति यात्री 30 रुपये की कटौती होगी, जब उनसे पूछा गया कि सरकार की ओर से ऐसी घोषणा नहीं है तो फिर टिकट का पूरा पैसा वापस दे।

एजेंसी धारक ने बताया कि यह आइआरसीटीसी के अधीन टिकट बुकिंग है जिससे हर टिकट पर कटौती संभव है। उन्हें बताया गया कि रेलवे काउंटर पर रुपये नहीं काटे जा रहे हैं, तो एजेंसी धारक ने कहा कि वहां रेलवे कर्मचारी ड्यूटी दे रहे हैं जबकि निजी एजेंसी में आइआरसीटीसी के अनुसार वर्क हो रहा है जिससे कटौती होगी।

इससे यात्रियों में रोष बढ़ गया और यात्रियों ने रेल विभाग के शीर्ष अधिकारियों से मांग की कि निजी एजेंसियों द्वारा जबरन कटौती किए जाने पर सख्त कार्रवाई हो ताकि यात्रियों को राहत मिले। इस संबंध में लुधियाना रेलवे स्टेशन सुपरिंटेंडेंट तरुण कुमार से बात करने पर उन्होंने कहा कि वे यात्रियों की शिकायत की पड़ताल करवा कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई करवाएंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!