जागरण संवाददाता, खन्ना

केंद्र सरकार की ओर से क‌र्फ्यू व लॉकडाउन के चलते जरूरतमंदों के लिए भेजे राशन के वितरण पर खन्ना के अकाली-भाजपा नेताओं ने सवाल उठाए हैं। इस बारे में उन्होंने वीरवार को खन्ना एसडीएम दफ्तर पहुंचे और ज्ञापन सौंपकर वितरण संबंधी जांच की मांग की।

इस दौरान उन्होंने केंद्र की तरफ से गरीबों के लिए आए राशन को सत्ताधारियों द्वारा अधिकारियों की मिलीभगत के साथ खुर्द-बुर्द करने पर संदेह जताया। उन्होंने कहा कि कि जिस राशन को अधिकारियों ने प्रत्येक जरूरतमंद के हाथों तक पहुंचाना था, वही सरकारी राशन सत्ताधारियों के घरों में पहुंचा हुआ है। इसकी फोटो खुद उक्त लोग अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल में डाल रहे हैं।

इस बारे में अकाली-भाजपा नेताओं यादविदर सिंह यादू, इकबाल सिंह चन्नी, राजिदर सिंह जीत, संजीव धमीजा, जतिदर देवगन, सर्वदीप सिंह कालीराव, सुधीर सोनू, कविता गुप्ता, सुखदेव सिंह, डॉ. सोमेश बत्ता, प्रताप सिंह, (सभी पूर्व पार्षद), मंडल प्रधान भाजपा अनूप शर्मा, इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के पूर्व चेयरमैन राजेश डाली, भाजपा जिला महासचिव अनुज छाहड़िया, आतिश बांसल ने बताया कि एक ओर जहां दुनिया भर में लोग मर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर खन्ना में सत्ताधारी राहत के राशन पर भी घटिया राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे। इसमें उनका साथ अधिकारी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि राशन को लेकर भेदभाव किया जा रहा है। उन्हें आशंका है कि राशन को सही हाथों तक पहुंचाने की बजाय खुर्द-बुर्द किया जा रहा है। इसकी विजिलेंस जांच होनी चाहिए।

शिअद-भाजपा नेताओं ने कहा कि खन्ना में राशन को लेकर की जा रही बंदरबांट की शिकायत वे केंद्र सरकार से भी करेंगे। अगर प्रशासन ने इस मुद्दे पर जल्द ही कोई कारवाई नहीं की तो प्रदेश नेतृत्व से संपर्क कर विधायक और एसडीएम कार्यालय का घेराव करने से भी गुरेज नहीं किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!