जागरण संवाददाता, लुधियाना। पंजाब में एक और भ्रष्ट पुलिस अधिकारी पर शिकंजा कसा गया है। विजिलेंस ब्यूरो ने अदालत में चालान पेश करने के एवज में पांच हजार रुपये रिश्वत लेते हुए एएसआइ को काबू किया है। पुलिस ने उसके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

विजिलेंस के प्रवक्ता ने बताया कि सतजोत नगर निवासी गुरप्रीत सिंह की शिकायत के अनुसार उनकी भांजी के खिलाफ आपराधिक मामला थाना डिवीजन नंबर छह में चल रहा था। एएसआइ कुलविंदर सिंह ने अदालत में चालान पेश करने के एवज में पांच हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी। गुरप्रीत सिंह की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए विजीलेंस ने ट्रैप लगाकर एएसआइ को पांच हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया है। पुलिस ने उसे दो सरकारी गवाहों के सामने तब पकड़ा जब वह पीड़ित से रिश्वत ले रहा था।

यह भी पढ़ें - बहू के साथ जबरदस्ती का प्रयास, ससुर काबू

जासं, लुधियाना। ग्यासपुरा के महादेव नगर इलाके में ससुर ने बहू के साथ गलत काम करने के लिए जबरदस्ती की। बहू के शोर मचाने पर जमा हुए लोगों को देख कर आरोपित फरार हो गया। छानबीन के दौरान थाना साहनेवाल पुलिस ने उसे गिरफ्तर करके उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया।

एएसआइ राम मूर्ति ने बताया कि उसकी पहचान महादेव नगर निवासी अमरीक गुप्ता के रूप में हुई। पुलिस ने उसकी 22 वर्षीय बहू की शिकायत पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया। अपने बयान में उसने बताया कि 26 नवंबर की रात 10.30 बजे उसका ससुर उसके कमरे में घुस आया। वो उसके साथ गलत काम करने की कोशिश करने लगा। पीड़िता ने उसे धक्के मारे, मगर उसने जबरदस्ती उसे पकड़ लिया और उसके साथ अश्लील छेड़छाड़ की।

यह भी पढ़ें - E-Vehicles बढ़ने से पंजाब का आटो पार्ट्स उद्योग चिंतित, चीन से सस्ते आयात और बदलते ट्रेंड ने बढ़ाई टेंशन

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट