जागरण संवाददाता, लुधियाना। Shahi Imam Death: शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी का देर रात लुधियाना में देहांत हो गया है। जनाजे की नमाज 10 सितंबर को रात 8: 30 बजे फील्ड गंज चौक जामा मस्जिद के बाहर अदा की जाएगी। पंजाब शाही इमाम सीएमसी में 12:10 बजे पर दुनिया को अलविदा कह गए। वह कई दिनाें से बीमार चल रहे थे। यह जानकारी उनके भाई अतीक उर रहमान ने दी।

डीसी वरिंदर शर्मा, गुरद्वारा दुख निवारण साहिब के मुख्य सेवादार प्रितपाल सिंह, साहित्यकार गुरुभजन सिंह गिल, एडीसीपी डीसीपी डा. प्रज्ञा जैन नायाब शाही इमाम उस्मान रहमानी से अफसोस करने जामा मस्जिद पहुंचे।

उल्लेखनीय है कि शाही इमाम का चेन्नई के एक बड़े अस्पताल में एक महीने तक इलाज चला। अभी कुछ दिन पहले ही लुधियाना वापस आए थे, लेकिन तकलीफ बढ़ती गई। डायलिसिस की वजह से उन्हें लुधियाना के सीएमसी के आइसीयू में एडमिट किया गया था। शाही इमाम हबीब उर रहमान स्वतंत्रता सेनानी परिवार से ताल्लुक रखते थे। उनके परिवार ने आजादी के लिए योगदान दिया था।

यह भी पढ़ें-Protest In Ludhiana: भाजपाइयों ने इंप्रूवमेंट ट्रस्ट का घेराव कर बाहरी गेट को जड़ा ताला, पुलिस से धक्कामुक्की

 

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह सहित कई नेताओं ने जताया शाेक

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शाही इमाम के निधन पर शाेक जताया है। उन्हाेंने कहा कि मौलाना हबीब उर रहमान ने प्यार, शांति और भाईचारे का संदेश दिया।पंजाब के कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु, सांसद रवनीति सिंह बिट्टू, विधायक सुरिंदर डावर, विधायक राकेश पांडे, मेयर बलकार सिंह संधू व अन्य नेताओं ने शाही इमाम के निधन पर शाेक जताया है।

यह भी पढ़ें-Brick Price Punjab: घर बनाना हुआ मंहगा, 800 रुपये बढ़े ईंट के दाम, अब 6000 रुपये में मिलेगी एक हजार

 

फिल्म सुफना में रसूल शब्द काे लेकर जताई थी आपत्ति

गाैरतलब है कि शाही इमाम ने फिल्म सुफना के गीत 'कबूल है' में रसूल शब्द का इस्तेमाल करने के बाद अभिनेता एमी विर्क व लेखक जाॅनी के खिलाफ माेर्चा खाेल दिया था। एक लड़की जसनूर ने रसूल शब्द पर आपत्ति जताते हुए कहा था कि इससे मुस्लिम समाज की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं, इसलिए एमी विर्क व जानी माफी मांगें। जसनूर ने इसकी शिकायत जामा मस्जिद लुधियाना के नायब शाही इमाम मौलाना उस्मान लुधियानवी से की थी। हालांकि एमी विर्क व जाॅनी ने नायब शाही इमाम से मुलाकात कर इस गलती के लिए माफी मांग विवाद को खत्म कर दिया था। शाही इमाम तब माने जब अभिनेता व लेखक ने माफी मांगी। वह मुस्लिम समुदाय की बुलंद आवाज थे।

यह भी पढ़ें-लुधियाना में मायके से लाखों के जेवर व कैश चुरा लवर संग भागी विवाहिता, शिकायत की तो पिता पर किया हमला

 

Edited By: Vipin Kumar