जासं, लुधियाना। Ludhiana Land Scam: इंप्रूवमेंट ट्रस्ट की ओर से बेची गई माडल टाउन एक्सटेंशन स्थित 3.79 एकड़ जमीन की नीलामी को सरकार ने शनिवार को रद कर दिया है। स्थानीय निकाय विभाग की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि नीलामी की रकम भी वापस की जाए और ट्रस्ट फैसला करे कि यह जगह ऐसी ही स्थिति में बेचनी है या एससीओ काट कर बेची जाए। इसके बाद जिला स्तरीय प्राइज एंड रेट फिक्सेशन कमेटी द्वारा इस जगह की कीमत तय करवाई जाए।

भाजपा कुछ समय से इंप्रूवमेंट ट्रस्ट द्वारा बेची गई इस जमीन के मुद्दे को पुरजोर तरीके से उठा रही थी। आरोप था कि ट्रस्ट के चेयरमैन रमनाबाला सुब्रहमण्यम और मंत्री भारत भूषण आशु ने यह जमीन कम कीमत पर चहेतों को बेची है। इसकी मार्केट कीमत करीब 350 करोड़ रुपये है, लेकिन इसे महज 98 करोड़ में बेच दिया है। मामले को तूल पकड़ता देख बीते शुक्रवार को मंत्री भारत भूषण आशु ने नीलामी को रद करने की सिफारिश सरकार से की थी।

विक्की जिप्सी के आफर ने किया था आग में घी का काम

जमीन बेचने के कथित घोटाले को लेकर उठे मुद्दे के बीच ट्रस्ट के ही ट्रस्टी विक्की जिप्सी ने इस जगह के सवा सौ करोड़ रुपये देने का आफर दिया था। इस आफर ने आग में घी का काम किया और मुद्दा और गर्म हो गया था। वहीं, ट्स्ट के चेयरमैन रमन बाला सुब्रह्मण्यम ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था कि केतली भांडा मांज देयांगे, वक्त दी खेड है.. इस पर भी नेताओं ने सख्त टिप्पणी की थी और मामला तूल पकड़ता गया।

साफ हो गया कि घोटाला हुआ है भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य एडवोकेट बिक्रम सिद्धू का कहना है कि नीलामी रद करने से साफ हो गया है कि इसमें करोड़ों रुपये का घपला हुआ था। इस मामले की पूरी जांच करवाए। नीलामी रद करके सरकार ने आरोपितों को बचाने की कोशिश की है।

प्रशासक नियुक्त करे सरकार

शिअद के महासचिव हरीश राय ढांडा का कहना है कि इंप्रूवमेंट ट्रस्ट में प्रशासक नियुक्त किया जाए ताकि लोगों की संपत्ति सुरक्षित रहे। सरकार इस मामले की जांच एजेंसी से करवाए।

विजिलेंस जांच पूरी होनी चाहिए

शिअद के उपाध्यक्ष कमल चेतली ने कहा कि नीलामी रद करना सही है। जमीन को एकमुश्त बेचने के बजाय प्लाट काटकर बेचें। इससे तीन गुना रकम मिलेगी। मामले की विजिलेंस जांच पूरी होनी चाहिए। संवैधानिक पद पर बैठे चेयरमैन को इंटरनेट मीडिया पर कुछ लिखते समय भाषा की मर्यादित रखना चाहिए।

Edited By: Vipin Kumar