लुधियाना, [आशा मेहता ]। निजी स्कूलों की तरह अब सरकारी स्कूलों में भी प्री प्राइमरी के नन्हें मुन्ने बच्चे खेल-खेल में पढ़ना सीखेंगे। सरकारी स्कूलों में बच्चे स्लाइड, सिंवंग, शी शाह व टायरों के खेलों का मजा ले सकेंगे। सरकार द्वारा प्री प्राइमरी कक्षाओं में आउटर गेम्स को प्रमोट करने के लिए 23 करोड़ रुपये से अधिक की ग्रांट मंजूर की गई है।

सर्व शिक्षा अभियान ऑथारिटी पंजाब व डायरेक्टर जनरल स्कूल शिक्षा पंजाब की ओर से वीरवार को जिला शिक्षा अधिकारी ऐलीमेंटरी को जारी की गई चिट्ठी के अनुसार पंजाब के 22 जिलों के 12218 सरकारी स्कूलों के लिए 2321.42 लाख रुपये की ग्रांट मंजूर की गई है।

प्रत्येक स्कूल के लिए 19 हजार रुपये की ग्रांट जारी की गई है। पत्र में कहा गया है कि जिला शिक्षा अफसर एलीमेंटरी इस ग्रांट को स्कूल स्तर पर तुरंत जारी करना यकीनी बनाएंगे। इसके अलावा स्कूल प्रमुख इस ग्रांट को नियमों के अनुसार खर्च करना सुनिश्चित करेंगे।

किसी स्कूल को मिली कितनी ग्रांट

पत्र के अनुसार अमृतसर के 818 स्कूलों के लिए 155.42 लाख, बरनाला के 181 स्कूलों के लिए 34.39 लाख, ब¨ठडा के 397 स्कूलों के लिए 75.43 लाख, फतेहगढ़ साहिब के 440 स्कूलों के लिए 83. 6 लाख, फिरोजपुर के 613 स्कूलों के लिए 116.47 लाख, फाजिल्का के 466 स्कूलों के 88.54 लाख, फरीदकोट के 244 स्कूलों के लिए 46.36 लाख, गुरदासपुर के 819 स्कूलों के लिए 155.61 लाख, पठानकोट के 369 स्कूलों के लिए 70.11 लाख, होशियारपुर के 1155 स्कूलों के लिए 219.45 लाख, जालंधर के 917 स्कूलों के लिए 174.23 लाख, कपूरथला के 387 स्कूलों के लिए 73.53 लाख, लुधियाना के 974 स्कूलों के लिए 185.06 लाख, मोगा के 353 स्कूलों के लिए 67.07 लाख, मानसा के 295 स्कूलों के लिए 56.05 लाख, मुक्तसर के 324 स्कूलों के लिए 61.56 लाख, एसएसए नगर के 416 स्कूलों के लिए 79.04 लाख, पटियाला के 918 स्कूलों के लिए 174.42 लाख, रोपड़ के 548 स्कूलों के लिए 104.12 लाख, संगरूर के 660 स्कूलों के लिए 125.4 लाख, तरनतारन के 506 स्कूलों के लिए 96.14 लाख रूपये ग्रांट मंजूर की गई।

प्री प्राइमरी के बच्चों के लिए खरीदे जाएंगे यह सामान

पत्र में कहा गया है कि प्रत्येक स्कूल को 19 हजार रुपये की ग्रांट जारी की गई है। स्कूल प्री प्राइमरी के बच्चों के शरीरिक विकास के लिए स्लाइड, ¨स्वग, बैलेंस बीम, शी शा, टायर वाले खेल के सामान को खरीदेंगे। प्री प्राइमरी ग्रांट में केवल खेलों का वही सामान खरीदा जाए, जो पहले से स्कूल में नहीं है। यह सामान तीन से छह साल के बच्चों के प्रयोग के लायक हो। निर्देशों में कहा गया है कि 15 जनवरी तक सभी स्कूल ग्रांट का प्रयोग कर उसकी पूरी जानकारी देंगे।

सरकारी स्कूलों में वर्ष 2017 में शुरू हुईं प्री प्राइमरी कक्षाएं

 पंजाब सरकार की हिदायतों के अनुसार राज्य के सभी प्राइमरी स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं 14 नवंबर 2017 को शुरू हुई थी। प्री प्राइमरी कक्षाएं शुरू करने का मकसद तीन से छह साल के बच्चों को प्राइमरी शिक्षा ग्रहण करने के लिए तैयार करना और उनका सर्वपक्षीय विकास करना था।

 हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!