फिरोजपुर, जेएनएन। कृषि सुधार कानूनों के विरोध में मोर्चे पर बैठे किसानों पर अभिनेता और गोरखपुर से भाजपा सांसद रवि किशन की ओर से विवादित टिप्पणी करने के मामले में बुधवार को जिला अदालत में सुनवाई हुई। मानहानि के इस मामले में गांव कटोरा निवासी किसान बलराज सिंह ने ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट हरमिलनजोत कौर की अदालत में गवाही दर्ज करवाई। बलराज सिंह ने अदालत में कहा कि सांसद ने धरने पर बैठे किसानों के प्रति गलत शब्दाबली का इस्तेमाल किया है।

यह भी पढ़ें- परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम में लुधियाना की प्रतिभा से बोले पीएम मोदी- बच्चों पर न डालें अपने सपनों का बोझ

इस पर अदालत ने अन्य गवाहों को भी 21 मई तक पेश करने के आदेश दिए। सांसद रवि किशन के खिलाफ पिछले माह मार्च में फिरोजपुर व जीरा में मामले दर्ज करवाए गए थे। एडवोकेट रजनीश दहिया ने बताया कि केस दर्ज करवाने से पहले 20 जनवरी को लीगल नोटिस भेजा गया था, लेकिन सांसद रवि किशन ने न तो नोटिस का जवाब दिया और न ही माफी मांगी। रवि किशन ने 24 दिसंबर, 2020 को ट्वीट कर धरने पर बैठे किसानों को ढोंगी कहा था।

गौरतलब है कि किसानी संघर्ष में जुटे किसानों के खिलाफ विवादित शब्द बोलने वाले बीजेपी नेताओं के खिलाफ मार्च महीने में फिरोजपुर और जीरा की फौजदारी अदालत में मुकद्दमे पेश किए गए थे। यह मुकद्दमे गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, संसद मैंबर रवि किशन समेत राष्ट्रीय सचिव राम महादेव के खिलाफ जिले के किसानों की ओर से पेश किए गए थे।

यह भी पढ़ें- चंडीगढ़ में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने बनाया मोर्चा, व्हाट्सअप ग्रुपों में वायरल हुए पोस्टर

मुकद्दमों की पैरवी करते हुए एडवोकेट रजनीश दहीया ने बताया कि मुकदमा दर्ज करवाने से पहले 20 जनवरी को इन नेताओं को लीगल नोटिस भेज किसानों से जनतक तौर पर माफी मांगने के लिए लिखा गया था, लेकिन सांसद रवि किशन की ओर से न ही नोटिस का कोई जवाब दिया गया और न ही माफी मांगी गई। एडवोकेट दहिया ने बताया कि सांसद रवि किशन ने 24 दिसंबर 2020 को ट्वीट कर धरने में बैठे किसानों को ढोंगी कहा था।

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021