जासं, लुधियाना। पंजाब रोडवेज काॅन्ट्रैक्ट बस कर्मचारियों ने बड़ी घोषणा की है। यूनियन ने कहा है कि उनकी ओर से सरकार को 29 सितंबर तक मांगे पूरी करने का समय दिया गया है। अगर मांगें पूरी हो गईं तो बसों का परिचालन जारी रहेगा नहीं तो 30 सितंबर से फिर से हड़ताल की जाएगी। पिछले कई दिनों से पनबस और पीआरटीसी के कच्चे मुलाजिमों की तरफ से की जा रही हड़ताल स्थगित होने से यात्रियों को थोड़ी राहत मिली है। हालांकि 29 सितंबर के बाद क्या स्थिति रहेगी, इसे लेकर यात्री असमंजस में हैं। 

पंजाब रोडवेज कर्मचारियों ने कहा कि उन्होंने हड़ताल को 29 सितंबर तक स्थगित किया है। मांगें पूरी करने के लिए कैप्टन सरकार को 14 दिन का अल्टीमेटम दिया गया है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि कैप्टन सरकार इन 14 दिनों में उनकी मांगें पूरी करें ताकि बसों का परिचालन निरंतर जारी रहे। सरकार अगर 29 सितंबर तक मांगे पूरी नहीं की तो इसके बाद संघर्ष और तेज किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि पंजाब रोडवेज, पनबस और पीआरटीसी कर्मचारियों ने रेगुलर करने की मांग को लेकर छह सितंबर को पंजाब के सभी बस स्टैंडों को बंद किया था। इससे यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। कई रूटों पर बसों का आवागमन नहीं होने से भारी संख्या में यात्रियों का जरूरी काम बाधित हुआ। उन्हें लाखों रुपये का नुकसान भी सहना पड़ा है।

वही कांट्रेक्ट मुलाजिम यूनियन की ओर से रोजाना दफ्तर में मीटिंग होती है। यूनियन के पदाधिकारी सरकार के नीति और राजनीति की समीक्षा करते हैं। इसके साथ ही पदाधिकारी बसों के परिचालन पर भी नजर रखे हुए हैं कि कोई गड़बड़ी तो नहीं हो रही है। यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि 29 सितंबर तक सभी बसों का आवागमन जारी रहेगा, सरकार 29 सितंबर तक उनकी मांगे पूरी कर दे। अगर ऐसा नहीं होतो तो पूरे पंजाब में अनिश्चितकालीन बस हड़ताल किया जाएगा।

यह भी पढ़ें - Kabaddi World Cup के आयोजन पर खर्च लाखाें रुपये फंसे, बठिंडा के होटल मालिकाें काे 6 साल बाद भी नहीं हुआ भुगतान

Edited By: Pankaj Dwivedi