जागरण संवाददाता, लुधियाना। Punjab Chunav 2022ः  अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने प्रदेश सरकार पर बड़ा हमला बाेला। उन्हाेंने कहा कि बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ झूठा पर्चा दर्ज करने के लिए चन्नी सरकार ने षड्यंत्र रचा था। सुखबीर मंगलवार काे यहां पत्रकारों से बात कर रहे थे। डीजीपी चट्टोपाध्याय इस षड्यंत्र का सूत्रधार है। चटोपाध्याय और सीएम चरणजीत सिंह चन्नी  बड़े बादल, मेरे और बिक्रम मजीठिया के खिलाफ केस करने की फिराक में थे। इसके लिए हाई कोर्ट की निगरानी में अफसर जांच कर रहे थे। उन अफसरों पर दबाव बनाया गया और दो डीजीपी हटाए गए। चटोपाध्याय ड्रग माफिया है।

सुखबीर ने आराेप लगाया कि चटोपाध्याय ने एक पीओ के साथ मिलकर ही यह साजिश रची थी। चटोपाध्याय के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी होनी चाहिए। बिक्रम मजीठिया के खिलाफ एक भी सबूत लेकर आये सुखबीर सियासत छोड़ देगा। मजीठिया चरणजीत चन्नी और सिधू के खिलाफ लड़ रहे हैं। सरकार बनी तो सबकी पोल खोलेंगे। अकाली दल सुप्रीम कोर्ट में मजीठिया की बेल के लिए याचिका लगा रहे है।

यह भी पढ़ें-आखिर अभिनेता अभिनव शुक्ला के एक ट्वीट से पंजाब पुलिस में क्याें मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला

बेअदबी के पीछे कांग्रेस

सुखबीर का आराेप है कि पंजाब में बेअदबी की घटनाओं के पीछे कांग्रेस पार्टी का हाथ है। पिछली बार भी कांग्रेस ने पीछे रहकर बेअदबी करवाई ताकि अकाली दल के खिलाफ माहौल बन सके। मोहम्मद मुस्तफा का बयान कांग्रेस की सोच को बताता है। उसे क्याें गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। मजीठिया को पकड़ने के लिए रेड हो रही है। सिद्धू मूसेवाला पर भी केस है उसे भी पकड़ा जाना चाहिए। इसके अलावा विधायक सिमरजीत बैंस पर दुष्कर्म का पर्चा है उसे क्यों नहीं पकड़ रहे। सुखबीर ने कहा कि शिअद वर्कर दिन-रात काम कर रहे हैं आप और कांग्रेस 10 सीट से ज्यादा सीटें नहीं जीत पाएंगे। शिअद पर्चाें से नही डरेगी। 20 दिन बाद इन पर्चों की पर्चियां बनेगी।

यह भी पढ़ें-बेअदबी केसः पटियाला पहुंचे भगवंत मान और राघव चड्ढा हिंदू संगठनाें के विराेध के बाद भागे, हालात तनावपूर्ण

Edited By: Vipin Kumar