पटियाला, [गौरव सूद]। शिक्षा विभाग ने राज्य में विद्यार्थियों की कम गिनती वाले 228 मिडिल स्कूलों में फिजिकल ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर (पीटीआइ) के पद खत्म करने की तैयारी करनी शुरू कर दी है। विभाग द्वारा जारी नए निर्देश अनुसार प्राइमरी स्तर में खेल के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए राज्य के सभी 228 ब्लाक में से पीटीआइ के एक-एक पद को शिफ्ट किया जा रहा है।

इसके तहत विद्यार्थियों की गिनती को आधार मानते हुए ब्लाक के जिस मिडिल स्कूल में विद्यार्थियों की गिनती सबसे कम है, उस मिडिल स्कूल में काम कर रहे पीटीआइ अध्यापकों को समेत पोस्ट संबंधित ब्लाक में शिफ्ट किया जा रहा है। हर ब्लाक में मौजूद मिडिल स्कूल में से पीटीआइ का एक पद दफ्तर ब्लाक प्राइमरी शिक्षा अफसर बीपीईओ में शिफ्ट करने के फैसले के अनुसार 228 पदों को खत्म करने के फैसले से अध्यापक जगत में रोष है।

स्कूलाें में कई पद चल रहे खाली

राज्य के मिडिल स्कूलों में पहले ही पक्के तौर पर गणित, इंग्लिश और कंप्यूटर अध्यापक भी नहीं है। विभाग के आदेश के अनुसार एक सीनियर सेकेंडरी स्कूल के साथ तीन अन्य मिडिल स्कूलों को जोड़ा गया है, जिसके तहत गणित, इंग्लिश और कंप्यूटर अध्यापक हफ्ते में दो-दो दिन अलग-अलग स्कूलों में जाकर बच्चों को पढ़ाते हैं।

बच्चाें की पढ़ाई हाे रही प्रभावित

अन्य दिन साइंस अध्यापक अपने विषय के साथ-साथ गणित, सामाजिक शिक्षा वाले अध्यापक इंग्लिश पढ़ाते है। ताकि बच्चों की क्लास लगती रहे। ऐसे में जहां उक्त तीनों मुख्य विषयों के अध्यापक न होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है, वहीं अब फिजिकल एजुकेशन अध्यापकों को भी मिडिल स्कूलों से दूर करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। प्राइमरी स्कूलों के लिए ब्लाक में एक पीटीआइ अध्यापक की तैनाती के बाद एक अध्यापक की पूरे ब्लाक के प्राइमरी स्कूलों की खेल गतिविधियों की जिम्मेवारी होगी। एक ब्लाक में औसतन 60 से 100 के करीब स्कूल हैं।

विभाग के आदेश अनुसार हर ब्लाक में पीटीआइ अध्यापक की तैनाती की प्रक्रिया का प्रोसेस जारी है। जल्द ही ब्लाक स्तर पर अध्यापकों की तैनाती हो जाएगी।-अमरजीत सिंह, डीईओ एलिमेंट्री

एक ब्लाक में 60 से 100 स्कूल होने के कारण एक पीटीआइ अध्यापक द्वारा सभी स्कूलों में खेल गतिविधियों पर पूर्ण ध्यान दे पाना असंभव है। जिस कारण विभाग दिखावेबाजी कर रहा है। विक्रमदेव सिंह, प्रदेश प्रधान, डीटीएफ

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप