जगराओं, [बिंदु उप्प्ल]। आपके एक क्लिक पर आपके पोलिंग बूथ की जानकारी तुरंत मिलेगी। यह न केवल आपके पोलिंग बूथ तक आपको पहुंचाएगा बल्कि आपातकालीन स्थिति में जरूरत पड़ने पर नजदीकी अस्पताल, फायर स्टेशन, पुलिस स्टेशन की जानकारी भी देगा। पंजाब रिमोर्ट सेंसिंग डिपार्टमेंट ने राज्य के सभी बूथों की मैपिंग की है। विभाग संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों की भी विशेष मैपिंग कर रहा है। इसके लिए वेबसाइट तैयार की जा रही है। यह जल्दी ही शुरू होगी। इसका लिंक इलेक्शन डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर दिया जाएगा। वहां जाकर कोई भी अपने बूथ के बारे में व अन्य जानकारी हासिल कर सकेगा। यह कहना है पंजाब रिमोर्ट सेंसिंग डिपार्टमेंट के डायरेक्टर वैज्ञानिक डॉ. बिरजेंद्र बटेरिया का। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 की रिमोर्ट सेेंसिंग मैप की जिम्मेदारी, जियोलॉजी, वाटर रिसोर्स एंड जियो इंफॉरमेटिक्स डिवीजन विभाग के हेड वैज्ञानिक डॉ. प्रदीप के लिटोरिया को दी गई है।

दूसरी बार रिमोट सेंसिंग मैप किया तैयार: डॉ. लिटोरिया

दैनिक जागरण से बातचीत में जियोलॉजी, वाटर रिसोर्स एंड जियोइंफॉरमेटिक्स डिवीजन विभाग के हेड वैज्ञानिक डॉ. प्रदीप के लिटोरिया ने बताया कि पिछले विधानसभा चुनाव में भी चुनावों की रिमोट सेंसिंग मैप तैयार किया गया था, लेकिन तब चुनाव वाले पोलिंग बूथों के आसपास केवल एक ही सुविधा दी गई थी। इस बार लोकसभा चुनाव 2019 में वेब जीआईएस यानि ज्योग्राफिकल इंफॉरमेशन सिस्टम पर वो सारा डाटा अपलोड किया गया है जिसे हर विभाग के लिए उपयोग करना फायदेमंद होगा। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 में पोलिंग पार्टियों को एक जगह से दूसरी जगह पर आसानी से पहुंच, ट्रैकिंग व सही जगह का पता चल सकेगा।

डिजिटल इंडिया के साथ डिजिटल बन रहे हैं चुनाव

डिजिटल इंडिया के साथ डिजिटल लोकसभा चुनाव बनाने के लिए इस बार चुनाव में जनता को पोलिंग स्टेशन के आसपास कई सुविधाएं दी जा रही हैं। इसमें पोलिंग स्टेशन के आसपास अस्पताल, फायर ब्रिगेड, एंबुलेंस, इमरजेंसी में बडे़ अस्पतालों, पीएचसी, सीएचसी की लोकेशन दी गई है ताकि चुनाव वाले दिन यदि किसी अस्पताल के पास कोई अनहोनी, बीमार या अन्य घटना, लड़ाई-झगड़ा होता है तो तुरंत माहौल को शांत करने का प्रयास किया जाएगा। इसके अलावा पो¨लग स्टेशनों के पास कौन-कौन से थाने, पुलिस स्टेशन हैं, के बारे में पूरी जानकारी होगी। रिमोट सेंसिंग मैप के जरिए हमें यह भी पता चल जाएगा कि किन स्टेशनों के आसपास मोबाइल नेटवर्किंग बहुत कम है या नहीं है।

संवेदनशील, असंवेदनशील पोलिंग बूथों पर होगी पैनी नजर

वैज्ञानिक डॉ. पीके लिटोरिया का कहना है कि रिमोट सेंसिंग मैप के जरिए संसदीय सीट के अधीन आते संवेदनशील, असंवेदनशील व नॉर्मल बूथों पर चुनाव आयोग, प्रशासन, पुलिस की पैनी नजर होगी। इस रिमोट सेंसिंग मैप पर हर लोकेशन को अलग-अलग कोड के जरिए पेश किया जाएगा, ताकि जिसे जो सुविधा चाहिए, वो मिल जाए।

ऐसे पहुंचेंगे अपने बूथ तक

पंजाब रिमोर्ट सेंसिंग डिपार्टमेंट ने इस बेवसाइट पर पंजाब के नक्शे में 13 लोकसभा सीटों को दर्शाया है। इसके बाद नक्शे को जूम करने पर प्रत्येक लोकसभा सीट में आने वाले विधानसभा क्षेत्र दिखेंगे। आपका जो भी विधानसभा क्षेत्र हो, उसे जूम करने पर पोलिंग बूथ दिखने लगता है। पोलिंग बूथ पर क्लिक करने पर आप नजदीकी अस्पताल, फायर स्टेशन, पुलिस स्टेशन आदि के बारे में आपको जानकारी मिल जाएगी। उम्मीद है कि अगले सप्ताह इस वेबसाइट को लांच कर दिया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!