लुधियाना, जेएनएन। दवा की डिलीवरी देने जा रहे लोगों पुलिस कर्मियों द्वारा परेशान करने का मुद्दा पिंडी स्ट्रीट के दुकानदारों ने उठाया। जिसके बाद एसीपी ने दिलाया है कि ऐसा नहीं होगा। इसके लिए विभाग उचित कदम उठा रहा है। वह यहां पर दुकानदारों की समस्याएं सुनने आए हुए थे। क‌र्फ्यू को 17 दिन बीत चुके हैं, ऐसे में लोगों को घरों में जरूरत की चीजें पहुंचाने के लिए प्रशासन कई तरह के कदम उठा रहा है। इसके लिए डिलीवरी ब्वॉय को दवा घरों तक पहुंचाने के लिए लगाया है। इसके अलावा होलसेल मार्केट पिंडी स्ट्रीट से रिटेल दुकानदारों को भी दवाइयां सप्लाई होती हैं। 

जैसे ही दुकानदार यहां दवा लेने के लिए पहुंच रहे थे तो पाया कि फिजीकल डिस्टेंस को नजरअंदाज किया जा रहा है। इस कारण पिंडी स्ट्रीट में दुकानदारों के आने पर ही पाबंदी लगा दी थी और यहां से भी दुकानदारों को डिलीवरी ब्वॉय ही दवा दे रहे थे। बुधवार को एसीपी वरियाम सिंह और थाना कोतवाली प्रभारी राजवंत सिंह ने पिंडी स्ट्रीट का दौरा किया तो पाया कि यहां पर फिर से दुकानदारों को जमावड़ा था। इस कारण दवा की दुकानें फिर से बंद करवानी शुरू कर दी। 

इसके बाद पिंडी स्ट्रीट होलसेल केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक डाबर लवली व निशांत अरोड़ा की अध्यक्षता में दुकानदार पुलिस अधिकारियों से मिले और बताया कि जब उनके डिलीवरी ब्वॉय दवा देने के लिए जाते हैं तो पुलिस और वॉलंटियर उन्हें परेशान करते हैं। इस पर एसीपी वरियाम सिंह ने कहा कि कोई भी दुकानदार पिंडी स्ट्रीट में दवा लेने नहीं आएगा अगर कोई पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अगर किसी डिलीवरी ब्वॉय को कहीं रोका जाता है तो दुकानदार तुरंत उनसे संपर्क कर सकता है और डिलीवरी ब्वॉय को छुड़ा दिया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!