मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, खन्ना/पटियाला/जालंधर: दो एएसआइ से मिलकर फादर एंथनी के घर से मिले छह करोड़ से ज्यादा कैश गायब करने के आरोप में मुखबिर सुरिंदर सिंह को समराला पुलिस ने एक नाके से गिरफ्तार कर एसआइटी के हवाले कर दिया है। एसआइटी ने उसे मोहाली की ड्यूटी मजिस्ट्रेट जैसिका सूद की अदालत में पेश कर छह दिन का रिमांड हासिल किया है। 

एसआइटी समराला से उसे मोहाली स्थित स्टेट क्राइम पुलिस थाने लाई और बाद में अदालत में पेश कर 23 अप्रैल तक रिमांड हासिल कर किया। वहीं, मुखबिर की गिरफ्तारी के बाद फरार एएसआई राजप्रीत सिंह और एएसआइ जोगिंदर सिंह की धरपकड़ के लिए दिल्ली, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश व चंडीगढ़ में अलर्ट जारी कर दिया गया है। एसआइटी ने फरार निलंबित एएसआइ राजप्रीत व जोगिंदर की फोटो व केस की जानकारी भेजकर गिरफ्तारी के लिए मदद मांगी है। 

 जोगिंदर का पुराना रिकॉर्ड भी सही नहीं  

पुलिस ने जोगिंदर सिंह का पुराना रिकॉर्ड खंगालना शुरू कर दिया है। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि उस पर चौकी फग्गण माजरा में तैनाती के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। इसके अलावा राजपुरा में पुलिस चौकी इंचार्ज रहने के दौरान पूर्व डीएसपी कृष्ण कुमार पैंथे के साथ गाली-गलौच सहित सनौर थाना में तैनाती के दौरान उस पर एक महिला को थप्पड़ मारने के आरोप भी सामने आए हैं। 

 साढ़े छह करोड़ लेकर पहले खन्ना आए थे तीनों आरोपित !

खन्ना, [सचिन अानंद]: जालंधर के पादरी एंथनी के साढ़े छह करोड़ रुपये गायब करने के मामले में रोज नई परतें खुल रही हैैं। एसआइटी को इस मामले में कुछ सुराग मिले हैैं जिनके आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है। आरोपितों का रूट खंगालने के लिए पैट्रोल पंपों की सीसीटीवी फुटेज देखी जा रही हैं। 

सूत्रों के अनुसार जालंधर से साढ़े छह करोड़ ब्रीजा गाड़ी में लेकर निकले आरोपितों जोगिंदर सिंह, राजप्रीत सिंह (दोनों एएसआइ) और सुरिंदर के रूट को भेदने के लिए एसआइटी ने काम शुरू कर दिया है। एसआइटी को सूचना मिली है कि आरोपित यह रुपये लेकर सबसे पहले खन्ना पहुंचे थे। यह पैसा वह मोगा के रूट से खन्ना लाए थे। वह लोग यहां कुछ देर के लिए किसी ठिकाने पर रुके। इसके बाद वे गाड़ी लेकर किसी अज्ञात स्थान के लिए निकल गए। बताया जा रहा है कि एसआइटी दो एंगल से जांच कर रही है। पहले में यह पता लगा रही है कि कहीं बरामद कैश आरोपित खन्ना में ही तो कहीं नहीं छोड़ गए। दूसरे मामले में पता लगाना चाहती है कि आरोपित खन्ना से किस तरफ गए। 

एक पेट्रोल पंप की रिकार्डिंग एसआइटी को डिलीट मिली

सूत्रों के अनुसार सीसीटीवी फुटेज में खन्ना शहर के एक पेट्रोल पंप की रिकार्डिंग एसआइटी को डिलीट मिली। एसआइटी द्वारा इस पेट्रोल पंप मालिक को पूछताछ के लिए पटियाला भी बुलाया गया था। जहां मंगलवार को एसआइटी सदस्य और एसएसपी पटियाला मंदीप सिंह सिद्धू ने पेट्रोल पंप मालिक से पूछताछ की। यहां पेट्रोल पंप मालिक ने रिकार्डिंग डिवाइस में खराबी को इसका कारण बताया परंतु एसआइटी इस जवाब से संतुष्ट नहीं है। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!