जागरण संवाददाता, लुधियाना : दृष्टिहीन व स्पेशल बच्चों की आश्रय स्थली ब्रेल भवन में 42.39 लाख रुपये की लागत से खेल मैदान बनाने की योजना अंतिम चरण में है। टेंडर प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। पांच महीने के भीतर यह कार्य संपन्न कर लिया जाएगा। डिप्टी कमिश्नर प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि खेल मैदानों में फुटबॉल, क्रिकेट, कबड्डी, एथलेटिक्स (शॉटपुट, डिस्कस थ्रो, जैवलिन थ्रो, लंबी कूद) और खेल सरगर्मियों के लिए एक्टिविटी रूम और आधुनिक सुविधाओं वाला जिम भी शामिल होगा। इस प्रोजेक्ट के लिए पंजाब सरकार के सामाजिक सुरक्षा, स्त्री और बाल विकास विभाग की तरफ से 42.39 लाख रुपये की मंजूरी दे दी गई है। प्रोजेक्ट पूरा होने पर यह राज्य की एकमात्र संस्था होगी, जहा आधुनिक सुविधा वाले खेल मैदान और खेल गतिविधियों की सुविधा होगी। अग्रवाल ने उम्मीद जताई कि खेल मैदान तैयार होने पर यहा पढ़ रहे बच्चों को विभिन्न प्रकार के खेलों में भाग लेने और बढि़या प्रदर्शन करने के लिए उत्साह मिलेगा। वहीं बच्चों को अपने कौशल को निखारने और राज्य, राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुकाबलों में भाग लेने का मौका प्रदान करेगा। बता दें की 13 एकड़ क्षेत्रफल में फैली इस संस्था में इस समय पर विशेष जरूरतों वाले बच्चों के लिए हॉस्टल, सह शिक्षा हाई स्कूल, अध्यापकों के लिए प्रशिक्षण सेंटर, वोकेशनल रिहेब्लीटेशन और ब्रेल प्रेस चल रही है। बच्चों को तनाव से बचाने का भी बेहतर जरिया है खेल

दिव्यांग बच्चे अपनी मजबूरियों को लेकर अक्सर तनाव में चले जाते हैं। जिसके लिए खेल, मेडिटेशन बेहद जरूरी है। ध्यान भटकाने के लिए अपने पसंदीदा खेल, गीत व अन्य मनोरंजन का सहारा लें। जब कभी भी तनाव ज्यादा महसूस हो, तो मनोचिकित्सक की मदद भी ली जा सकती है।

Posted By: Jagran