लुधियाना, जेएनएन। पिछले 45 दिन का सफर तय करने के बाद मात्र दो किलोमीटर से कामयाबी पाने से विफल होने के बावजूद चंद्रयान-2 को लेकर लोगों में उत्साह कम नहीं हुआ। लोगों की भावनाओं का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि देर रात तक टीवी पर नजरें टिकाए बैठे लोगों ने इस मिशन में असफलता नहीं मिलने के बावजूद वैज्ञानिकों की सराहना की। सोशल मीडिया पर उनके प्रोत्साहित करने वाले कमेंट्स की बाढ़ आ गई। इतना ही नहीं, देर रात तक टीवी से बच्चे भी चिपके रहे और वे भी उत्साहित रहे।

स्कूली बच्चे वॉट्सएप पर एक-दूसरे को कमेंट भेजते रहे। बच्चे अपने ग्रुप में लिख रहे थे कि रातभर जागे, लेकिन चंद्रयान सफल नहीं हो पाया। बच्चों का कहना था कि स्कूल के टीचरों ने उन्हें कहा था कि चंद्रयान-2 की लैं¨डग अवश्य देखें। एक सोशल साइट्स ने जब इसरो के पूर्व डायरेक्टर के हवाले से खबर चलाई कि निराश न हों, हो सकता है विक्रम चांद पर लैंड कर गया हो। तो लोगों ने उस पर कमेंट्स की बाढ़ ला दी। किसी ने कहा कि गणेश जी का उत्सव चल रहा है और गणेश जी सब ठीक कर देंगे।

एक ने लिखा, आपने बहुत शुभ समाचार दिया है और आशा करते हैं कि ऐसा ही होगा। एक अन्य ने लिखा, ईश्वर से प्रार्थना है कि इसरो के वैज्ञानिकों की मेहनत सफल हो और हम करोड़ों देशवासियों का सपना साकार हो। एक ने तो यहां तक लिख दिया कि आपके मुंह में घी शक्कर। एक ने लिखा, आपका आइडिया सही साबित होगा।

सोशल साइट्स पर चमकते कमेंट्स

-ओ चंदा, बस संपर्क ही टूटा है, रिश्ता नहीं.., हम फिर आएंगे, भला मामा का घर भी कभी छूटता है..

- आपका प्रयास व्यर्थ नहीं गया है। ये भावुक क्षण, ये आंसू ही आपका संबल बनेंगे। एक दिन, जल्द ही हम चांद पर होंगे। हमें टीम इसरो पर गर्व है।

- चंद्रयान-3 बनकर फिर से मिलने आऊंगा, फिर से मिलने आऊंगा

- इंशा अल्लाह, कामयाबी मिल जाएगी।

- गर्व तब भी था, गर्व अब भी है। इसरो को सलाम।

- हमें इसरो पर गर्व है। बहुत जल्द चांद को चूमकर रहेगा।

- दुआ करेंगे कि जो नेगिटिविटी की बात कर रहे हैं, उनकी जुबां बंद हो जाए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!